Hindusthan Samachar
Banner 2 शनिवार, अप्रैल 20, 2019 | समय 12:35 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

लोकसभा चुनाव: भाजपा ने सोनीपत से रमेश कौशिक पर दोबारा खेला दांव

By HindusthanSamachar | Publish Date: Apr 6 2019 9:31PM
लोकसभा चुनाव: भाजपा ने सोनीपत से रमेश कौशिक पर दोबारा खेला दांव
सोनीपत, 6 अप्रैल (हि.स.)। लोकसभा चुनाव में भाजपा ने एक बार फिर सांसद रमेश चंद्र कौशिक के ऊपर विश्वास जताया और इस रणफेरी में कर्म यौद्धा के रुप में अपने जांबांज जुझारु लोकप्रिय नेता रमेश चंद्र कौशिक पर दांव लगाया है। यह एक मात्र ऐसे सांसद रहे हैं सोनीपत से जिन्होंने सभी 9 विधान सभा क्षेत्रों में अपनी पकड़ बनाई है और विकास पर्याय बने कौशिक इस बार कितना कमाल दिखाएंगे कमल को खिलाएंगे, यह फिलहाल भविष्य के गर्भ में हैं। इतना तो जरूर है कि इनको टिकट दिया उनके काम को मान्यता प्रदान करता है। सोनीपत से सांसद रहे रमेश कौशिक के बारे में उनको जरूर बता दें जो इनके बारे में पहली बार पढने जा रहे हैं। रमेश चंद्र कौशिक का जन्म जन्म 3 दिसंबर 1956 में सोनीपत के छोटे से गांव समसपुर गामड़ा में हुआ। इनके पिता का नाम कलीराम और माता गंगा देवी थी अपनी उनका स्वर्गवास हो गया था। इनकी पत्नी लक्ष्मी देवी हैं इनकी शादी 27 अप्रैल 1982 में हुई। भारतीय जनता पार्टी में अभी वर्तमान में सोनीपत लाेकसभा क्षेत्र से यह सांसद रहे। शिक्षा ग्रेजुएशन व्यवसाय इनका वकालत का रहा। अपनी खेती भी करते रहे हैं। सांसद रमेश कौशिक ने भारत के अलावा आस्ट्रेलिया, कंबोडिया, कनाडा, इंग्लैंड, फ्रांस, जर्मनी, होलैंड, हांगकांग, चाइना, इंडोनेशिया, इटली, मलेशिया, नेपाल, मोरीसस, सिंगापुर, स्पेन, स्वीजरलैंड, थाइलैंड, अमेरिका, वियतनाम आदि राष्ट्रों में भ्रमण किया। राजनीति के सफरानामा को जान लेते हैं। 1996-1999 तक हरियाणा सरकार में कैबिनेट मंत्री रहे, 2005 से 2009 में फिर से हरियाणा विधानसभा में चुने गए थे। 2007 से 2009 सीपीएस हरियाणा सरकार में रहे 2014 में उपभोक्ता मामले खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्रालय के तहत परामर्श समिति के सदस्य चुने गए रेलवे पर स्थाई समिति के सदस्य चुने गए 2014 में सोनीपत निर्वाचन क्षेत्र से कांग्रेस पार्टी के जगबीर सिंह मलिक को पराजित करने के बाद वे लोकसभा के लिए चुने गए साथ ही नियम समिति के सदस्य भी चुने गए। सोनीपत लोकसभा सीट को जाट बेल्ट की सीट माना जाता था लेकिन इन्होंने इस मिथक को थोड़ा और अपना लोगों के अंदर विश्वास बनाया जब लोकसभा के पिछली बार चुनाव हो रहे थे तो जींद के लोगों ने यह कहा कि जब भी कोई सांसद सोनीपत का बनता है तो जींद को भूल जाता है लेकिन यह एक ऐसे सांसद रहे जो बराबर अपने 9 विधानसभा क्षेत्रों के अंदर पकड़ बनाए रखें। सब को समान रूप से उन्होंने विकास के कार्य किए और लोगों के बीच एक आवाज आई कि रमेश चंद्र कौशिक ऐसे सांसद आए जिनको हमें ढूंढना नहीं पड़ा, लोगों के बीच खड़े हुए मिले और उसी का परिणाम था कि भारतीय जनता पार्टी ने एक बार फिर से रमेश चंद्र कौशिक के ऊपर विश्वास व्यक्त किया है। इनको लोकसभा चुनाव के लिए टिकट दिया गया है। हिन्दुस्थान समाचार /नरेंद्र/वेेदपाल
लोकप्रिय खबरें
फोटो और वीडियो गैलरी
image