Hindusthan Samachar
Banner 2 मंगलवार, नवम्बर 20, 2018 | समय 23:17 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

जानें मिजोरम की राजनीति के बारे में सबकुछ

By HindusthanSamachar | Publish Date: Nov 3 2018 2:50PM
जानें मिजोरम की राजनीति के बारे में सबकुछ

संजीव

आईजोल। इस बार मिजोरम के विस चुनाव भी काफी रोचक होने वाले हैं। कांग्र्रेस का गढ़ रहा इस पूर्वोत्तर राज्य पर  अपनी सत्ता लाने के लिए हर मुमकिन कोशिश में जुट गई है। सूत्रों के मुताबिक बीजेपी की कोशिशें कामयाब रहीं तो यह राज्य कांग्रेस मुक्त हो जाएगा। ऐसे में यहां की वर्तमान विधानसभा और राजनीति के बारे में जानना भी बड़ा रोचक होगा। जानें ये फैक्ट...

* मिजोरम की मौजूदा विधानसभा का कार्यकाल दिसंबर 2018 में खत्म हो रहा है। 

* इसकी कुल सीट संख्या 40 है।

* 2013 के चुनाव के समय मिजोरम भारत का एकमात्र ऐसा राज्य रहा, जहां महिला मतदाताओं की संख्या पुरुष मतदाताओं से 9,806 अधिक थी। 

* जबकि राज्य में कुल मतदाता 690,860 है।

* ललथनहवला चार बार मुख्यमंत्री रह चुके हैं और 2013 में अपने लगातार दूसरे कार्यकाल के लिए उन्होंने चुनाव लड़े। इस बार वे तीसरे कार्यकाल के लिए मैदान में उतर रहे हैं।

* मुख्यमंत्री ललथनहवला ने दो विधानसभा सीट (सेरचिप और हरांगतुर्जो) पर चुनाव लड़े थे और वे दोनों ही सीटें जीत गए।

* मिजोरम विधानसभा के लिए 25 नवंबर को मतदान हुआ था।

* इसमें जेडएनपी ने 38 सीटों पर, बीजेपी ने 17 सीटों पर और राकांपा ने दो सीटों पर अपने विधायक खड़े किए थे। 

* मिजोरम में कुल 142 उम्मीदवार चुनावी मैदान में थे।

* छह महिलाओं ने भी चुनाव लड़ा था। इनमें से एक कांग्रेस से, एक एमडीए से और 3 बीजेपी से तथा एक निर्दलीय थी। 

* 2013 में कांग्रेस ने 34 जीत पर चुनाव जीता।

* मिजो नेशनल फ्रंट ने पांच सीट पर चुनाव जीता। 

* मिजोरम पीपुल्स कांफ्रेंस ने एक सीट पर चुनाव जीता।

* 2008 में कांग्रेस के 32 प्रत्याशी चुनाव जीतने में सफल रहे थे। 

* मिजो नेशनल फ्रंट तीन सीट पर चुनाव जीती थी। 

* मिजोरम पीपुल्स कांफ्रेंस ने दो सीट पर चुनाव जीता था। जबकि अन्य ने तीन सीटें जीतीं थीं। 

-हिन्दुस्थान समाचार

image