Hindusthan Samachar
Banner 2 रविवार, नवम्बर 18, 2018 | समय 15:13 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

आचार संहिता का उल्लंघन करने पर कठोर कार्यवाही करने के निर्देश

By HindusthanSamachar | Publish Date: Oct 25 2018 5:24PM
आचार संहिता का उल्लंघन करने पर कठोर कार्यवाही करने के निर्देश
उमेद
बुरहानपुर, 25 अक्‍टूबर (हि.स.) । कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में गुरुवार को सीईओ जिला पंचायत एवं चुनाव प्रशिक्षण प्रभारी श्री शीलेन्द्र सिंह की अध्यक्षता में चुनाव व्यय कार्यवाही और निगरानी समिति की बैठक संपन्न हुई। उन्होंने इस अवसर कहा कि आगामी विधानसभा निर्वाचन-2018 में जिले में निर्वाचन व्यय पर जिला प्रशासन की कड़ी नजर रहेगी। 2 नवम्बर के बाद व्यय प्रेक्षक का जिले का दौरा संभावित है। प्लाइंग स्क्वैड के सदस्य कार्यवाही करते समय वीडियोग्राफी जरूर कराये तथा गवाह, सबूत जरूर प्रस्तुत करें। इसी प्रकार 50 हजार रूपये से अधिक नगदी ले जाने वालों के खिलाफ जांच की जाये। संतोषजनक उत्तर न मिलने पर नगद राशि की जप्ती की कार्यवाही की जाये।
 
सिंह ने बताया कि निर्वाचन व्यय, जो कि निर्वाचन-प्रचार के कानून के अंतर्गत अनुज्ञेय है। बशर्ते यह अनुज्ञेय सीमा के अंतर्गत हों इसमें जनसभाओं, पोस्टरों, बैनरों, वाहनों, प्रिंट या इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में विज्ञापनों जैसें प्रचार संबंधी मदों पर व्यय शामिल होता है। दूसरी श्रेणी में वे व्यय आते हैं, जिनको विधि के अधीन अनुमति प्राप्त नहीं होती है। उदाहरण के लिए निर्वाचकों को प्रभावित करने के उद्देश्य से उनके बीच रूपये, शराब या अन्य किसी वस्तु का वितरण करना, रिश्वत देने की परिभाषा के अंतर्गत आता है और यह भारतीय दण्ड संहिता के अधीन एक अपराध है और लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम 1951 के अधीन एक भ्रष्ट आचरण है। 
 
वीडियो निगरानी टीम
उन्‍होंने बताया कि प्रत्येक विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र के लिए एक या एक से अधिक वीडियो टीम तैनात की जायेंगी, जिसमें कम से कम एक कर्मचारी और एक वीडियोग्राफर हो। वीडियो निगरानी टीमें उचित रूप से प्रशिक्षित होनी चाहिए और व्यय से संबंधित सभी घटनाओं और साक्ष्यों को पकड़ने में सक्षम होनी चाहिए। वीडियो निगरानी टीमों को शूटिंग के प्रारंभ में घटना का नाम और प्रकार, तारीख, स्थान और घटना का संचालन करने वाली पार्टी और अभ्यर्थी का नाम वायस मोड में रिकार्ड करना होगा। 
 
वीडियो अवलोकन टीम
वीडियो निगरानी दलों द्वारा ली गई वीडियो रिकार्डिंग में से वीडियो अवलोकन दल इन-हाउस सीडी तैयार करेंगे तथा किसी भी बाहरी एजेंसी को संपादन अथवा अन्य प्रयोजनार्थ यह सीडी नहीं सौंपेंगे। व्यय से संबंधित मामलों और आदर्श आचार संहिता से संबंधित मामलों की पहचान के लिए वीडियो अवलोकन टीम द्वारा वीडियो निगरानी टीम द्वारा ली गई वीडियो सीडी रोज देखी जाएगी। यह टीम व्यय की मदों की प्रविष्टि करेंगे और प्रत्येक मद के सम्मुख अधिसूचित दर लिखेंगे फिर प्रत्येक अभ्यर्थी के लिए मदों पर कुल व्यय की गणना करेंगे। 
 
शिकायत अनुवीक्षण नियंत्रण कक्ष और कॉल सेंटर
उन्‍होंने बताया कि जिला स्तर पर 24 घंटे नियंत्रण कक्ष की स्थापना की गई है। कलेक्ट्रेट के कन्ट्रोल रूम का नंबर 07325-254022 पर भी आचार संहिता के उल्लंघन की शिकायत की जा सकती है। इसके अलावा पुलिस कन्ट्रोल रूम के नंबर 07325-241700 पर भी कोई भी व्यक्ति महत्वपूर्ण सूचना दे सकता है। 
 
इस अवसर पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सुनील पाटीदार ने कहा कि चुनाव के समय पुलिस की भूमिका सबसे अधिक है। यह जिला बहुत संवेदनशील है। उन्होंने कहा कि एफएसटी, एसएसटी के सदस्य रिटर्निंग ऑफिसर से से सतत संपर्क बनाये रखे। रिटर्निंग ऑफिसर की अनुमति के बिना कोई भी सभा, जुलूस या रैली का आयोजन न किया जायेगा। यदि ऐसा किया जाता है तो आयोजक के खिलाफ एफआईआर दर्ज करायी जाये। 
 
इस अवसर पर अपर कलेक्टर रोमानुस टोप्पो ने कहा कि निर्वाचन के दौरान जब्‍त की अवैध सामग्री जिला कोषालय में जमा करायी जायेगी। प्रायवेट भवन पर स्वामी की अनुमति के बगैर बैनर-पोस्टर नहीं लगाये जायेंगे। चुनाव प्रचार में सरकार भवन का उपयोग प्रतिबंधित रहेगा। एफएसटी, वीवीटी और एसएसटी के सदस्य आपसी तालमेल से काम करें। इस अवसर पर बड़ी संख्या में एफएसटी, वीवीटी और एसएसटी के सदस्य मौजूद थे। 
image