Hindusthan Samachar
Banner 2 सोमवार, नवम्बर 19, 2018 | समय 10:49 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

भाजपा ने चुनाव आयोग को भेजा पत्र, मांगी एक बार विज्ञापन देने की अनुमति

By HindusthanSamachar | Publish Date: Oct 23 2018 1:59PM
भाजपा ने चुनाव आयोग को भेजा पत्र, मांगी एक बार विज्ञापन देने की अनुमति

भोपाल, 23 अक्टूबर(हि.स.)। सुप्रीम कोर्ट के निर्देश के बाद चुनाव आयोग ने राजनीतिक दलों को अपने आपराधिक रिकॉर्ड के संबंध में 15 नवंबर से 26 नवंबर के बीच में विज्ञापन प्रकाशित करवाने की तारीख तय कर दी है। इसके बाद राजनीतिक दल सकते में हैं। दरअसल भाजपा ने इस संदर्भ में चुनाव आयोग को एक पत्र भेजा है। इस पत्र में पूछा गया है कि जिन प्रकरणों में प्रत्याशियों को कोर्ट में सजा सुनाई जा चुकी है। ऐसे कितने साल पुराने प्रकरणों की जानकारी फॉर्म-26 में भरकर देनी है, इस संदर्भ में स्थिति को स्पष्ट किया जाए। 

गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट के निर्देश के मुताबिक प्रत्याशी को शपथ पत्र के साथ फॉर्म-26 में आपराधिक प्रकरणों का उल्लेख करना अनिवार्य कर दिया गया है। वहीं अब प्रत्याशियों को अपने विधानसभा क्षेत्र में तीन-तीन बार समाचार पत्र, टीवी चैनल में यह आपराधिक रिकॉर्ड विज्ञापन रूप में प्रकाशित करवाना होगा। हालांकि भाजपा ने चुनाव आयोग को भेजे अपने पत्र में विज्ञापन को तीन-तीन बार के बजाय केवल एक बार प्रकाशित करवाने की अनुमति भी मांगी है। भाजपा ने लिखा है कि विज्ञापन प्रकाशित करवाने का खर्च पार्टी के खाते में जोड़ा जाए, जबकि निर्दलीय प्रत्त्याशियों पर आने वाला व्यय उन्हीं के खर्च में जोड़े जाने की मांग की है।

-हिन्दुस्थान समाचार/संजीव

image