Hindusthan Samachar
Banner 2 रविवार, नवम्बर 18, 2018 | समय 16:08 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

निर्वाचन कार्य में लापरवाही बरतने पर होगी कड़ी कार्यवाही : कलेक्टर

By HindusthanSamachar | Publish Date: Oct 13 2018 5:52PM
निर्वाचन कार्य में लापरवाही बरतने पर होगी कड़ी कार्यवाही : कलेक्टर
दमोह, 13 अक्‍टूबर (हि.स.) । व्हीव्हीपैट मशीन की सम्पूर्ण जानकारी प्रशिक्षण में प्राप्त कर लें, कोई भ्रम हो तो शंकाओं का समाधान कर लें, व्हीव्हीपैट की हर बात जान लें, यह एक पारदर्शी मशीन है, यह मशीन विधानसभा निर्वाचन में पहली बार उपयोग हो रही है, इसका अध्ययन कर लें। इसको समझना जरूरी है, यह प्रथम चरण है, दूसरे चरण में भी प्रशिक्षण दिया जायेगा। उक्‍त बातें कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी डॉ.जे.विजय कुमार ने शनिवार को विधानसभा क्षेत्र 54- पथरिया और 56-जबेरा महाविद्यालयों में चल रहे प्रथम पॉली के मतदान दलों के प्रशिक्षण दौरान कही। 
 
इस मौके पर कलेक्‍टर ने पथरिया महाविद्यालय में बनाये गये सेल्फी पाइंट का निरीक्षण किया और फोटो सेशन कराया। इस अवसर पर एसडीएम एवं रिटर्निंग आफीसर पथरिया संजीव साहू तथा एसडीएम एवं रिटर्निग आफीसर जबेरा नारायण सिंह मौजूद थे। इस दौरान कलेक्टर कुमार ने कहा निर्वाचन कार्य में लापरवाही क्षम्य नहीं होगी, विभागीय कार्यवाही होगी, प्रशासनिक कार्यवाही होगी और निलंबन की कार्यवाही भी की जायेगी, आईपीसी में प्राथमिकी भी दर्ज कराई जायेगी।
 
उन्होंने कहा निर्वाचन में सभी को कार्य करना है, यह पहले चरण का प्रशिक्षण है, सब अच्छे से निर्वाचन प्रक्रिया को सीख लें, पिछले निर्वाचन और इस निर्वाचन में अंतर है। उन्होंने बताया व्हीव्हीपैट मशीन में मतदान करने वाले मतदाता की एक पर्ची निकलेगी जो 7 सेकेण्ड तक दिखेगी और मशीन में गिर जायेगी, कम से कम 50 मॉक पोल भी करना है, इसीलिये अच्छा प्रशिक्षण लें, मतदान के समय असानी होगी। किसी को कोई शंका हो तो मास्टर ट्रेनर्स से पूंछे और उसका निराकरण करें।
 
कलेक्‍टर ने कहा कि इस बार निर्वाचन में अमले की कमी है, इसलिये महिलाओं को भी निर्वाचन कार्य में लगाया जायेगा। किसी भी तरह की बीमारी का बहाना नहीं सुना जायेगा, मैं स्वयं भी डॉक्टर हूं, मेडीकल बोर्ड से जाँच कराई जायेगी, यदि वास्तव में बीमारी है तो अवकाश स्वीकृत किया जायेगा। प्रशिक्षण मटेरियल की हार्ड कापी भी आपको उपलब्ध कराई जायेगी, प्रशिक्षण के बाद भी अध्ययन कर लें, हर बात मालूम होनी चाहिये। आयोग की बेवसाईट देखकर भी अध्ययन किया जा सकता है। 
 
हिन्‍दुस्‍थान समाचार / उमेद 
image