Hindusthan Samachar
Banner 2 सोमवार, अप्रैल 22, 2019 | समय 05:48 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

दिल्ली को पूर्ण राज्य बनाने का वादा कर चुप्पी साध गए डॉ. हर्षवर्धन : गोपाल राय

By HindusthanSamachar | Publish Date: Apr 11 2019 7:44PM
दिल्ली को पूर्ण राज्य बनाने का वादा कर चुप्पी साध गए डॉ. हर्षवर्धन : गोपाल राय
नई दिल्ली, 11 अप्रैल (हि.स.)। आम आदमी पार्टी (आप) ने ''पोल खोल अभियान'' के तहत गुरुवार को केंद्रीय मंत्री डॉ. हर्षवर्धन का रिपोर्ट पेश करते हुए उनपर कई आरोप लगाएं। आप नेता गोपाल राय ने कहा कि दिल्ली को पूर्ण राज्य बनाने का वादे करने वाले डॉ. हर्षवर्धन अब इस मुद्दे पर चुप्पी साध चुके हैं। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने पिछले लोकसभा चुनाव के दौरान दिल्ली को पूर्ण राज्य देने का वादा किया था। अपने घोषणा पत्र में शामिल करने के बाद भी भाजपा ने यू-टर्न ले लिया। गोपाल राय ने गुरुवार को पार्टी कार्यालय में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में कहा कि वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव में केंद्रीय मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने कहा था कि वो नए प्रधानमंत्री के सामने दिल्ली को पूर्ण राज्य बनाने का प्रस्ताव रखेंगे। लेकिन इसके उलट अब भाजपा कह रही है कि दिल्ली को पूर्ण राज्य के दर्जे की जरूरत नही है। राय ने कहा कि डॉ. हर्षवर्धन की वेबसाइट पर आज भी लिखा हुआ है कि दिल्ली पुलिस केंद्र सरकार के अधीन है और वो दिल्ली के लोगों के हित में काम नही कर रही है। इसलिए अन्य राज्यों की तरह दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा मिलना चाहिए। लेकिन अब डॉ. हर्षवर्धन अपने व्यक्तिगत बयान से मुकर गए। आप नेता ने कहा कि डॉ. हर्षवर्धन दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण को लेकर केजरीवाल सरकार पर हमेशा हमलावर रहे हैं। लेकिन उन्हें यह पता होना चाहिए कि प्रदूषण को रोकने के लिए जितना प्रयोग और कोशिश केजरीवाल सरकार ने किया उतना किसी अन्य सरकार ने नही किया है। इसके लिए दिल्ली सरकार ने प्रयोग के तौर पर ऑड-ईवन फॉर्मूला तक लागू किया था। प्रदूषण पर बोलते हुए गोपाल राय ने कहा कि हाल ही में आई विश्व स्वास्थ्य संगठन की रिपोर्ट से पता चलता है कि दिल्ली में सुधार हुआ है। उन्होंने देश के अन्य शहरों से तुलना करते हुए कहा कि एक नंबर पर रहने वाली दिल्ली इस बार छठे नंबर आ गई है। राय ने बताया कि देश के सबसे ज्यादा प्रदूषित शहरों में चार उत्तर प्रदेश के हैं। गोपाल राय ने कहा कि दिल्ली से सटे अरावली पर्वत एक ऐसा क्षेत्र है, जहां लोगों को वहां स्वच्छ पर्यावरण मिलता है। लेकिन हरियाणा की खट्टर सरकार ने वहां खनन के लिए 75 हजार एकड़ जमीन खनन के लिए भू-माफियाओं को दे दिया। पर्यावरण मंत्रालय ने भी यह बात मानी कि वहां पर गलत हो रहा है लेकिन पर्यावरण मंत्री होने के नाते डॉ. हर्षवर्धन ने कुछ नही किया। आज भी वहां भू-माफियाओं का खनन लगातार जारी है वहीं स्थानीय लोग इसका लगातार विरोध कर रहे हैं। हिन्दुस्थान समाचार / रवि
लोकप्रिय खबरें
फोटो और वीडियो गैलरी
image