Hindusthan Samachar
Banner 2 सोमवार, अप्रैल 22, 2019 | समय 06:30 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

केजरीवाल ने झुग्गीवासियों को आवंटित नहीं किए 18 हजार बने बनाए मकान : विजेन्द्र गुप्ता

By HindusthanSamachar | Publish Date: Apr 11 2019 6:29PM
केजरीवाल ने झुग्गीवासियों को आवंटित नहीं किए 18 हजार बने बनाए मकान : विजेन्द्र गुप्ता
नई दिल्ली, 11 अप्रैल (हि.स.)। दिल्ली विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष विजेन्द्र गुप्ता ने गुरुवार को आम आदमी पार्टी(आप) के दस साल में सस्ता मकान देने के चुनावी वादे को खोखला करार दिया। उन्होंने कहा कि इस बात का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि सरकार ने 18 हजार बने हुए मकानों में से एक भी झुग्गीवासियों को आवंटित नहीं किया। नेता विपक्ष विजेन्द्र गुप्ता ने कहा कि झुग्गीवासियों को मकान आवंटित करने के लिए केजरीवाल सरकार ने गंभीरतापूर्वक किसी ठोस नीति पर काम भी नहीं किया। ऐसी पार्टी से हर दिल्लीवासी को सस्ता मकान मिलने की उम्मीद करना पूरी तरह से बेमानी है। उन्होंने कहा कि दिल्ली शहरी आश्रय सुधार बोर्ड(डुसिब) द्वारा झुग्गीवासियों की पात्रता के लिए 25 फरवरी, 2013 को नीति तैयार की गई थी। इसके अनुसार झुग्गीवासियों से 68 हजार रुपये लाभार्थी अंश के मद में अग्रिम राशि के रूप में लिए गए थे। इसके बाद जिनकी पात्रता का निर्धारण दिल्ली स्लम और जेजे पुनर्वास नीति-2015 के अनुरूप किया गया। उनसे 1,12,000 रुपये अग्रिम राशि के रूप में लिए गए। इसके अतिरिक्त सभी लाभार्थियों से 30 हजार रुपये पांच वअवधि के लिए आवंटित फ्लैट के रखरखाव के मद में प्राप्त वसूले। अभी तक इन दोनों मदों में 5173 झुग्गीवासियों से कुल 39.40 करोड़ रुपये लिए जा चुके हैं। इसके बावजूद केजरीवाल सरकार ने अभी तक पुराने बने बनाए मकानो में से मात्र 1469 फ्लैट ही आवंटित किए हैं। इसके कारण हजारों परिवारों को न तो फ्लैट मिला और न ही जमा कराई गई राशि। झुग्गी-झोपड़ी बस्ती संजय कैम्प, बादली स्थित पार्क साइड, किब्री प्लेस, प्रताप कैम्प, एन.सी. जोशी मेमोरियल अस्पताल करोल बाग, तैमून नगर इंदिरा गांधी कैम्प, कीर्तिनगर स्थित रमेश नगर, वजीरपुर स्थित के एंड एल ब्लाक, खिचड़ीपुर, पी-1 सुल्तानपुरी, ए-2 सुल्तानपुरी, एफ 17 के सामने सुल्तानपुरी स्लम बस्तियों के निवासियों को फ्लैट मिलने थे। गुप्ता ने कहा कि इसमें जिन्हें फ्लैट आवंटित कर दिए गए हैं, उन झुग्गीवासियों का क्या कसूर है। उन लोगों ने वर्ष 2012 से स्वयं को आवंटित फ्लैटों की रकम का ब्याज देना शुरू कर दिया है। भीषण महंगाई में उन्हें परिवार का पेट पालना मुश्किल हो रहा है। पैसा जमा करने के बाद भी उन्हें फ्लैट आवंटित न करना आम आदमी पार्टी की सरकार द्वारा उनके साथ धोखा है। हिन्दुस्थान समाचार/सुशील/आकाश
लोकप्रिय खबरें
फोटो और वीडियो गैलरी
image