Hindusthan Samachar
Banner 2 सोमवार, अप्रैल 22, 2019 | समय 05:59 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

दिल्ली के सरकारी स्कूलों में ग्यारहवीं कक्षा में पास प्रतिशत 80 के पार

By HindusthanSamachar | Publish Date: Apr 10 2019 8:35PM
दिल्ली के सरकारी स्कूलों में ग्यारहवीं कक्षा में पास प्रतिशत 80 के पार
नई दिल्ली, 10 अप्रैल (हि.स.)। दिल्ली सरकार की शिक्षा निदेशालय ने बुधवार को कहा कि उनके पास 30 मार्च को आए दिल्ली के सरकारी स्कूलों में होने वाले वार्षिक परीक्षाओं का परिणाम का रिकॉर्ड आया है। इसमें दसवीं और बारहवीं कक्षा को शामिल नही किया गया है। शिक्षा निदेशालय के मुताबिक पिछले आठ सालों में पहली बार ग्यारहवीं कक्षा में पास प्रतिशत 80 को छू पाया है। वर्ष 2017-18 में इस वर्ग के 71 प्रतिशत छात्र ही पास हुए थे। ऐसे ही नौवीं कक्षा में पास प्रतिशत पिछले वर्ष के समान रहा। वर्ष 2018-19 में 54.8 प्रतिशत बच्चे पास हुए हैं। वर्ष 2017-18 में 54.4 प्रतिशत छात्र पास हुए थे। दिल्ली के उपमुख्यमंत्री व शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि ''चुनौती'' और ''मिशन बुनियाद'' जैसे कार्यक्रमों की मदद से पिछले चार वर्षों में इन कक्षाओं में धीमी लेकिन लगातार सुधार हो रहा है। उन्होंने कहा कि हाल ही में शिक्षा का अधिकार अधिनियम 2009 में संशोधन किया गया है। इसके मुताबिक अब सरकार पांचवीं और आठवीं कक्षा से ''नो डिटेंशन पॉलिसी'' को समाप्त कर सकती है। दिल्ली राज्य सलाहकार परिषद द्वारा गठित समिति की रिपोर्ट में कुछ विशेष परिस्थितियों में कक्षा V और VIII में छात्रों को हिरासत में लेने के प्रावधान की सिफारिश की गई है, जो पहले से ही नए सत्र 2019-20 से इसके कार्यान्वयन के लिए सरकार को प्रस्तुत किया गया है। सत्र 2018-19 के लिए इन दो वर्गों के परिणाम, जिनकी अगली कक्षा के लिए पदोन्नति पर कोई असर नहीं पड़ेगा क्योंकि एनडीपी उस सत्र में अभी भी चालू था, इस प्रकार हैं: दिल्ली राज्य सलाहकार परिषद की कमेटी ने सरकार को एक रिपोर्ट सौंप दिया है। इसमें कुछ परिस्थितियों में पांचवी और आठवीं क्षा में छात्रों अगली कक्षा में अनुतिर्ण होने वाले छात्रों को अगली कक्षा में जाने से रोकने का प्रावधान है। इसे आगामी सत्र 2018-19 से लागू किया जाएगा। हिन्दुस्थान समाचार / रवि
लोकप्रिय खबरें
फोटो और वीडियो गैलरी
image