Hindusthan Samachar
Banner 2 सोमवार, अप्रैल 22, 2019 | समय 02:12 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

महिला आयोग ने पहाड़गंज में देह व्यापार के रैकेट का किया भंडाफोड़

By HindusthanSamachar | Publish Date: Apr 10 2019 1:15PM
महिला आयोग ने पहाड़गंज में देह व्यापार के रैकेट का किया भंडाफोड़
नई दिल्ली, 10 अप्रैल (हि.स.)। दिल्ली महिला आयोग (डीसीडब्ल्यू) ने मंगलवार देर शाम पहाड़गंज थाना पुलिस के साथ एक संयुक्त ऑपरेशन चलाते हुए पहाड़गंज के एक होटल में चल रहे देह व्यापार के रैकेट का भंडाफोड़ करते हुए चार लड़कियों को मुक्त करवाया है। पुलिस ने केस दर्ज कर उक्त मामले में एक एजेंट को गिरफ्तार किया है। डीसीडब्ल्यू की अध्यक्ष स्वाती मालीवाल और सदस्य किरण नेगी को एक एनजीओ ‘मिशन रेस्क्यू ऑपरेशन’ से सूचना मिली कि मध्य दिल्ली स्थित पहाड़गंज में एक एजेंट देह व्यापार के लिए लड़कियों की आपूर्ति कर रहा है। दिल्ली महिला आयोग की एक टीम दिल्ली पुलिस के साथ बताये गए होटल पर पहुंची और उसके कमरों में घुस गयी। उन कमरों से चार नाबालिग लड़कियों को रेस्क्यू किया गया, जहां पर वे ग्राहकों के साथ थीं। रेस्क्यू की गयी लड़कियों को शेल्टर होम भेज दिया गया है। पुलिस ने केस दर्ज कर आरोपित एजेंट साहिल को गिरफ्तार कर लिया है। उसके पास से एनजीओ मिशन रेस्क्यू ऑपरेशन द्वारा फर्जी ग्राहक बनकर भेजे गए लोगों द्वारा निशान लगाये गए नोट बरामद किये गए। परिवार के पालन पोषण के लिए किया यह काम रेस्क्यू की गयी लड़कियों में से दो लड़कियां नेपाल, एक असम और एक बिहार से है। डीसीडब्ल्यू द्वारा काउन्सलिंग के दौरान उन्होंने बताया कि वह बहुत गरीब परिवारों से हैं और उनके परिवार में कमाने वाला कोई और नहीं है। लड़कियों ने बताया कि वे दिल्ली में हुई अपनी कमाई का उपयोग गांव में अपने परिवार के पालन पोषण के लिए करती हैं। उनको एक ग्राहक से 500 रुपये मिलते हैं। उनमें से आधे एजेंट ले लेता है। एजेंट मसाज करने, क्लब में डांस करने और देह व्यापार के लिए ग्राहकों की व्यवस्था करता था। डीसीडब्ल्यू ने बाल कल्याण समिति से उनके लिए अच्छे पुनर्वास करने का अनुरोध किया है। डीसीडब्ल्यू की अध्यक्ष स्वाती मालीवाल ने कहा, “देश में नाबालिग लड़कियों की, खासकर नेपाल से लगातार तस्करी हो रही है। राजधानी में अवैध देह व्यापार पर कोई रोक नहीं लग पा रही है। चिंता की बात यह है कि इसके लिए और अधिक संख्या में छोटी लड़कियों की तस्करी की जा रही है। हम खतरा मोल लेकर रेस्क्यू ऑपरेशन करते हैं लेकिन समस्या यह है कि जब तक पुलिस द्वारा इन अपराधों की ठीक तरह से जांच नहीं की जाती है, तब तक यह सुनिश्चित नहीं किया जा सकता कि अभी कितनी और लड़कियां इन तस्करों के चंगुल में हैं। हिन्दुस्थान समाचार/अश्वनी शर्मा /दधिबल
लोकप्रिय खबरें
फोटो और वीडियो गैलरी
image