Hindusthan Samachar
Banner 2 रविवार, अप्रैल 21, 2019 | समय 13:53 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

राहुल गांधी के ‘चोर व्यापारी’ बयान से भड़के व्यापारियों ने दी परिणाम भुगतने की चेतावनी

By HindusthanSamachar | Publish Date: Apr 9 2019 6:40PM
राहुल गांधी के ‘चोर व्यापारी’ बयान से भड़के व्यापारियों ने दी परिणाम भुगतने की चेतावनी
नई दिल्ली, 09 अप्रैल (हि.स.)। कॉन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स(कैट) ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा व्यापारियों के लिए ‘चोर व्यापारी’ शब्द के इस्तेमाल पर कड़ी नाराजगी जताते हुए चुनावों में इसका खामियाजा भुगतने की चेतावनी दी है। कैट के राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल ने मंगलवार को संवाददाता सम्मेलन में कहा कि गत तीन अप्रैल को राहुल गांधी ने कहा था कि कांग्रेस की ''न्याय'' योजना के लिए वह धन ‘चोर व्यापारियों’ से वसूलेंगे। उन्होंने कहा कि व्यापारी वर्ग को चोर कह कर राहुल गांधी ने देश के व्यापारियों का बड़ा अपमान किया है, जिससे देशभर के व्यापारी राहुल गांधी और कांग्रेस से नाराज हैं। व्यापारियों के लिए ऐसी भाषा का इस्तेमाल आज तक किसी भी राजनेता ने नहीं किया लेकिन जिन शब्दों का इस्तेमाल राहुल ने किया है वो बेहद निंदनीय है और आने वाले चुनावों में कांग्रेस को इसकी भारी कीमत चुकानी पड़ सकती है। व्यापारिक मुद्दों को लेकर भाजपा और कांग्रेस के घोषणा पत्रों के तुलनात्मक अध्ययन पर खंडेलवाल ने कहा कि जहां भाजपा ने अपने घोषणा पत्र में व्यापारियों के अहम मुद्दों को लागू करने का संकल्प लिया है। दूसरी ओर कांग्रेस के चुनाव घोषणा पत्र में व्यापारियों को केवल तीन मुद्दों तक ही सीमित रखा गया है और वो भी अर्थहीन एवं तर्कहीन है जो पूरे नहीं हो सकते है। खंडेलवाल ने कहा कि कांग्रेस ने जीएसटी के वर्तमान स्वरूप को बदल कर नया जीएसटी लाकर सभी वस्तुओं पर कर की दर एक समान करने की बात कही है। ऐसे में प्रश्न उठता है कि वर्तमान जीएसटी कर प्रणाली जीएसटी काउंसिल ने तय की है जिसमें कांग्रेस शासित राज्यों के वित्त मंत्री भी शामिल थे और अब जब यह एक स्थायी कर प्रणाली का रूप लेने जा रही है ऐसे में कोई दूसरी नई कर प्रणाली लाना उचित नहीं है। खंडेलवाल ने कहा की भाजपा ने अपने संकल्प पत्र में जीएसटी को और अधिक सरल बनाने की बात कही है। दूसरी ओर एक राष्ट्रीय व्यापारी कल्याण बोर्ड एवं रिटेल व्यापार के लिए एक नीति बनाने का वचन दिया है। इससे देश का घरेलू व्यापार एक व्यवस्थित तरीके से संचालित होगा और निश्चित रूप से व्यापार में बहुत अधिक वृद्धि होगी। व्यापारियों की मांग को स्वीकार करते हुए 60 वर्ष से अधिक आयु के व्यापारियों को पेंशन मिलेगी जो देश में पहली बार होगा। जीएसटी में पंजीकृत व्यापारियों को 10 लाख रुपये का दुर्घटना बीमा सामजिक सुरक्षा की दृष्टि से बड़ा कदम है। पहली बार व्यापारी क्रेडिट कार्ड प्रत्येक व्यापारी को दिया जाएगा। संकल्प पत्र में स्टार्ट अप एवं महिला उद्यमिओं को भी प्रोत्साहित किया गया है वहीं सूक्ष्म एवं लघु उद्यमिओं को भी प्रोत्साहन देने के लिए योजना घोषित की गई है। हिन्दुस्थान समाचार/सुशील/आकाश
लोकप्रिय खबरें
फोटो और वीडियो गैलरी
image