Hindusthan Samachar
Banner 2 सोमवार, अप्रैल 22, 2019 | समय 05:53 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

तू किसी और की हुई तो जान से मार दूंगा !

By HindusthanSamachar | Publish Date: Apr 5 2019 7:48PM
तू किसी और की हुई तो जान से मार दूंगा !
नई दिल्ली, 05 अप्रैल (हि.स.)। “अगर तू मेरी नहीं हो सकी तो मैं तुझे किसी और का भी नहीं होने दूंगा। तुझे जान से मार दूंगा।” बाहरी दिल्ली के पश्चिम विहार ईस्ट इलाके में एक सिरफिरे आशिक ने एक क्लीनिक में घुसकर युवती को दिनदहाड़े पकड़कर उसे धमकी दी। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर आरोपित को गिरफ्तार कर लिया है। वारदात के बाद से पीड़ित युवती और उसका परिवार खुद को डरा महसूस कर रहा है। उनका कहना है कि कभी भी आरोपित उनके परिवार और बेटी को नुकसान पहुंचा सकता है। पुलिस ने क्लीनिक के आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज भी कब्जे में ली है। बाहरी जिले के डीसीपी सेजू पी कुरूविला के अनुसार पीड़ित युवती परिवार के साथ नांगलोई इलाके में रहती है। तीन साल से वह पश्चिम विहार इलाके में एक क्लीनिक में नौकरी करती है। पीड़ित ने पुलिस को बताया कि वह घर से ऑफिस और ऑफिस से घर जाने के लिए अधिकतर आरटीवी का प्रयोग करती है। पहले वह विक्रम उर्फ हनी नामक आरटीवी चालक की आरटीवी में आया जाया करती थी। विक्रम उससे कई बार बातें करने की कोशिश करता था। वह उसकी बातों को अनसुना कर दिया करती थी। उससे परेशान होकर उसने उसकी आरटीवी में आना जाना छोड़ दिया था। इस बारे में परिवार वालों ने विक्रम के परिवार वालों से बात की थी। विक्रम को उसके परिवार वालों ने समझाया भी था लेकिन विक्रम ने उसका पीछा करना नहीं छोड़ा था। वह घर से ऑफिस और ऑफिस से घर तक उसका पीछा करता रहता था। आरोप है कि होली वाले दिन विक्रम ने उसे पीरागढ़ी पर रोक लिया था। हाथ पकड़कर बदतमीजी करने लगा। विक्रम ने उसे कहा कि जब तक दोस्ती नहीं करेगी, पीछा नहीं छोड़ूंगा। इस बारे में भी परिवार को बताया तो परिवार के लोगों ने नौकरी छोड़ने तक की बात कह दी थी। परिवार तभी से काफी डरा हुआ था। गुरुवार शाम साढ़े सात बजे जब वह क्लीनिक पर पेशेंट से बातचीत कर रही थी, उसी दौरान अचानक विक्रम शराब के नशे में वहां पर पहुंचा। विक्रम ने उसका मोबाइल फोन उठाकर बाहर की तरफ भागा तो उसने शोर मचाकर पीछा किया। क्लीनिक के बाहर तैनात गार्ड ने जब उसको पकड़ा तो विक्रम ने फोन अपने एक अन्य साथी को दे दिया। जो मौके पर से फरार हो गया। मौके पर पहुंचने पर विक्रम उसे देखकर गाली देने लगा। अचानक विक्रम ने हाथ पकड़ा और अपनी तरफ जकड़ लिया। हालांकि गार्ड ने छुड़वा दिया। क्लिनिक में शोर शराबा सुनकर डॉक्टर तुरंत बाहर आए और पीसीआर को वारदात की सूचना दी। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर विक्रम को पकड़ लिया। विक्रम से उसके साथी के बारे में पूछताछ की जा रही है। जो पीड़ित का फोन लेकर भागा था। पुलिस ने आरोपित का मेडिकल कराया, जिसमें उसके नशे में होने की बात सामने आई। हिन्दुस्थान समाचार/अश्वनी शर्मा /दधिबल
लोकप्रिय खबरें
फोटो और वीडियो गैलरी
image