Hindusthan Samachar
Banner 2 सोमवार, अप्रैल 22, 2019 | समय 02:34 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

तार बनाने की फैक्टरी की छत हुई जमींदोज

By HindusthanSamachar | Publish Date: Apr 4 2019 7:04PM
तार बनाने की फैक्टरी की छत हुई जमींदोज
नई दिल्ली, 04 अप्रैल (हि.स.)। शाहदरा जिले के दिलशाद गार्डन औद्योगिक क्षेत्र में गुरुवार सुबह एल्युमिनियम तार बनाने की फैक्टरी की छत जमींदोज हो गई। हादसे में वहां काम कर रहे छह मजदूर मलबे के नीचे दब गए। हंगामे के बीच पड़ोस की फैक्टरियों में काम कर रहे मजदूरों ने आनन-फानन में घायलों को मलबे से निकालकर जीटीबी अस्पताल पहुंचाया, जहां दो मजदूरों को मृत घोषित कर दिया गया। मृतकों की पहचान बलदेव (30) और धर्मेंद्र (40) के रूप में हुई है। हादसे में घायल राजू चौधरी (27), जुम्मन (24) और शाहबाज (22) का जीटीबी अस्पताल में इलाज जारी है। एक अन्य घायल रोहन को निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। सीमापुरी थाना पुलिस ने हादसे में लापरवाही बरतने का केस दर्ज कर फैक्टरी के मालिक व ठेकेदार की तलाश शुरू कर दी है। पुलिस के अनुसार हादसा 484/4 दिलशाद गार्डन औद्योगिक क्षेत्र में सुबह करीब 11.45 बजे हुआ। यहां गगन जैन नामक व्यक्ति की एल्युमिनियम तार बनाने की फैक्टरी है। फैक्टरी में करीब 25 से 30 मजदूर काम करते हैं। पुरानी बनी फैक्टरी में पिछले कई माह से दीवारों को काटकर पिलर डालने का काम किया जा रहा था। गुरुवार सुबह अचानक पहली मंजिल की एक दीवार टी-आयरन व टुकड़ी की छत पर आ गिरी। छत दीवार का वजन नहीं सह पाई और छत नीचे काम कर रहे मजदूरों के ऊपर गिर गई। हादसे में वहां काम कर रहे फैक्टरी के पांच मजदूर व निर्माण करा रहे ठेकेदार का एक मजदूर मलबे में दब गए। तेज आवाज सुनकर आसपास की फैक्टरी में काम कर रहे मजदूर भागकर मौके पर पहुंचे। बाकी मजदूरों ने फौरन मलबा हटाना शुरू कर दिया। इन मजदूरों ने घायलों को मलबे से निकालकर निजी वाहनों से सभी को जीटीबी अस्पताल पहुंचाया। घायलों में बलदेव व धर्मेंद्र को मृत घोषित कर दिया गया जबकि राजू चौधरी, जुम्मन और शाहबाज का अस्पताल में उपचार जारी है। फैक्टरी में निर्माण करवा रहे ठेकेदार के पास काम करने वाले रोहन को निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस के मुताबिक बलदेव परिवार के साथ कलंदर कालोनी, ताहिरपुर में रहता था। इसके परिवार में माता-पिता के अलावा दो भाई व तीन बहनों के अलावा पत्नी है। धर्मेंद्र भी ताहिरपुर में अकेला रहता था। इसका परिवार बिहार में रहता है। घायलों में राज शालीमार गार्डन, यूपी में रहता है। जबकि शाहबाज व जुम्मन कांति नगर में रहते हैं। पुलिस फैक्टरी मालिक व ठेकेदार की तलाश कर रही है। हिन्दुस्थान समाचार/अश्वनी शर्मा/दधिबल
लोकप्रिय खबरें
फोटो और वीडियो गैलरी
image