Hindusthan Samachar
Banner 2 रविवार, अप्रैल 21, 2019 | समय 14:06 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

‘ऑपरेशन अप्रैल फूल’ कुख्यात लुटेरा गिरफ्तार

By HindusthanSamachar | Publish Date: Apr 3 2019 7:13PM
‘ऑपरेशन अप्रैल फूल’ कुख्यात लुटेरा गिरफ्तार
नई दिल्ली, 03 अप्रैल (हि.स.)। राजधानी में बदमाश ही नहीं अब पुलिस भी बेहद चालाकी से काम लेकर बदमाशों की धर-पकड़ कर रही है। द्वारका जिला की स्पेशल स्टॉफ पुलिस ने ‘ऑपरेशन अप्रैल फूल’ के तहत कुख्यात एटीएम लुटेरे को दबोचा है। आरोपित की पहचान गांव करांदा, मेवात निवासी असलम (45) के रूप में हुई है। असलम पिछले कई सालों से एटीएम की रेकी कर या पूरा एटीएम ही खाली कर देता था या फिर वह एटीएम काटकर उसमें से कैश उड़ा लेता था। पुलिस ने बेहद चालाकी से मेवाती व्यक्ति का भेष धरकर आरोपित को दबोचा। असलम को लगा कि मेवाती के भेष में शायद कोई दूसरा बदमाश है लेकिन जब आरोपित को गिरफ्तार किया गया तो उसे पता चला कि मेवाती के भेष में कोई और नहीं बल्कि पुलिस का जवान है। पुलिस पकड़े गए आरोपित से पूछताछ कर मामले की जांच कर रही हैं। द्वारका जिले के डीसीपी एंटो अल्फांस ने बताया कि पिछले कुछ दिनों से राजधानी के विभिन्न इलाके में एटीएम उखाड़कर ले जाने और उसमें से कैश उड़ाने की सूचनाएं मिल रही थी। इसी कड़ी में जिले के स्पेशल स्टॉफ ने भी मामले की छानबीन शुरू की। एसीपी राजेंद्र सिंह व इंस्पेक्टर नवीन कुमार व अन्यों की टीम को छानबीन के दौरान सीसीटीवी फुटेज से पता चला कि कुछ मामले में मेवाती बदमाश असलम का हाथ है। असलम 2017 से भगोड़ा है। फिलहाल वह गाजियाबाद के लोनी इलाके में छुपकर रह रहा है। सूचना के बाद पुलिस ने उसकी तलाश में दिल्ली, यूपी, हरियाणा और राजस्थान के इलाकों में छापेमारी की। इसी दौरान पुलिस को पता चला कि असलम हस्तसाल रोड, उत्तम नगर इलाके में एटीएम की रेकी करने आने वाला है। पुलिस ने असलम को पकड़ऩे के लिए योजना तैयार की। ऑपरेशन अप्रैल फूल तैयार कर एक पुलिसकर्मी को मेवातियों के तरह दिखने वाले लुंगी और कुर्ता पहनाया गया। भेष बदले पुलिसकर्मी खाली पड़े एटीएम के पास तैनात हो गया। इसी दौरान एक अप्रैल की रात को आरोपित असलम एटीएम की रेकी करने पहुंचा तो पुलिसकर्मी ने उससे बातचीत शुरू कर दी। उसने खुद को मेवाती बताते हुए एटीएम लूटने वाले नए गैंग का सदस्य बताया। असलम की पहचान होते ही भेष बदले पुलिसकर्मी ने टीम को इशारा कर दिया। बाद में असलम को दबोच लिया। असलम ने बताया कि वह कई बार पहले भी गिरफ्तार हो चुका है। हर बार वह अपना नया नाम बताकर पहली बार अपराध करने की बात करता था। मौर्या एंक्लेव इलाके में 2012 में वह एटीएम लूटने गए थे। वहां गार्ड की गोली से इसका एक साथी मारा गया था, बाद में पुलिस ने असलम को गिरफ्तार कर लिया था। इसी मामले में 2017 में जमानत लेकर वह फरार हो गया था। पुलिस इससे पूछताछ कर मामले की छानबीन कर रही है। हिन्दुस्थान समाचार/अश्वनी शर्मा /दधिबल
लोकप्रिय खबरें
फोटो और वीडियो गैलरी
image