Hindusthan Samachar
Banner 2 सोमवार, अप्रैल 22, 2019 | समय 01:45 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

सांस्कृतिक संस्था 'सुनैना' 4 अप्रैल को मनाएगा सिल्वर जुबली

By HindusthanSamachar | Publish Date: Apr 3 2019 2:13PM
सांस्कृतिक संस्था 'सुनैना' 4 अप्रैल को मनाएगा सिल्वर जुबली
नई दिल्ली, 03 अप्रैल (हि.स.)। गैर सरकारी संगठन ''सुनैना'' 25 साल पूरे होने पर त्रिवेणी कला संगम में सिल्वर जुबली कार्यक्रम का आयोजन कर रही है। यह कार्यक्रम चार अप्रैल को आयोजित किया जा रहा है, जिसकी थीम ''संस्कृति और साक्षरता सर्व प्रथम अधिकार'' रखा गया है। कार्यक्रम की शुरुआत लिट्रेसी और कल्चरल प्रमोशन एंड रिसर्च में किए गए काम की एक छोटी प्रस्तुति से होगा। इसके बाद ''सुनैना'' के साथ लंबे समय से जुड़े कलाकार एक नृत्य प्रस्तुति देंगे। साथ ही नृत्यभारती (कल्चरल विंग) के कलाकारों द्वारा पंडित रविशंकर के कोरियोग्राफ किए हुए नृत्य पर अपनी प्रस्तुति देंगे। सुनैना के सिल्वर जुबली कार्यक्रम में पद्म भूषण गुरु सरोजा वैद्यनाथ, पद्मश्री गुरु प्रतिभा प्रह्लाद, दिल्ली सरकार में समाज कल्याण मंत्री राजेन्द्र पाल गौतम, लेखिका संघ के अध्यक्ष मधु पंत जैसे गण्यमान्य अतिथि उपस्थित रहेंगे। ये प्रस्तुतियां आकर्षण का केन्द्र होंगी मोहिनीअट्टम इंटरनेशनल एकेडमी की निदेशक जयप्रभा मेनन ''यूनिटी इन डायवर्सिटी'' थीम पर मोहिनीअट्टम पर प्रस्तुति देंगी। लखनऊ घराने से कत्थक में निपुण मौमल नायक अपनी प्रस्तुति देंगी। मौमल कला के क्षेत्र में दो दशक से सक्रिय हैं। इन्होंने देश-विदेश में कई महोत्सवों में अपनी प्रस्तुति दी है। भारत की एक मार्शल आर्ट का एक रूप मयूरभंज छाउ पर राजेश साईं बाबू द्वारा संस्कृति और साक्षरता के विषय को सामने लाने के लिए प्रदर्शित किया जाएगा। कविता द्विवेदी ओडिसी एकेडमी दिल्ली की संस्थापक हैं, जो देश की प्रमुख ओडिसी अकादमियों में से एक हैं। वह ''यमुना जय माँ'' विषय पर एक ओडिसी नृत्य की प्रस्तुति देंगी। इस नृत्य का उद्देश्य जो नदियों और उनके संरक्षण के महत्व पर प्रकाश डालना है। उल्लेखनीय है कि सुनैना 1994 से भारत के राष्ट्रीय कला के उत्थान के लिए काम कर रही है। यह संस्था भारतीय शास्त्रीय नृत्य और संगीत प्रशिक्षण के माध्यम से महिलाओं के सशक्तिकरण काम कर रही है। साथ ही गांव के गरीब बच्चों और मजदूरों के बच्चों को शिक्षा देने का भी काम कर रही है। यह संस्था सेमिनार, सांस्कृतिक कार्यक्रमों, प्रस्तुतियों के माध्यम से भारतीय सांस्कृतिक विरासत को बढ़ावा देने का काम कर रही है। हिन्दुस्थान समाचार/सुभाषिनी./दधिबल
लोकप्रिय खबरें
फोटो और वीडियो गैलरी
image