Hindusthan Samachar
Banner 2 सोमवार, अप्रैल 22, 2019 | समय 02:05 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

पुलिस के हत्थे चढ़ा आतंकी खड़ा कर रहा था जैश का नेटवर्क

By HindusthanSamachar | Publish Date: Apr 2 2019 7:37PM
पुलिस के हत्थे चढ़ा आतंकी खड़ा कर रहा था जैश का नेटवर्क
नई दिल्ली, 02 अप्रैल (हि.स.)। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल के हत्थे चढ़ा मोस्ट वांटेड आतंकी फय्याज अहमद लोन जैश का नेटवर्क खड़ा करने में जुटा था। इसमें खासतौर से कश्मीरी नवजवान उसके निशाने पर थे। लोन के फरार दोनों साथी भी जैश के नेटवर्क का विस्तार करने में जुटे थे। यह खुलासा मामले की जांच में जुटी स्पेशल सेल की टीम ने मंगलवार शाम को किया, लेकिन लोन के दोनों साथी अभी फरार हैं। पुलिस उनकी तलाश में छापेमारी कर रही है। फरारी के छह महीने बाद पहुंचा था गांव मामले की जांच में जुटी पुलिस टीम के अनुसार आरोपित लोन फरार होने के करीब छह माह बाद तक गांव नहीं गया था। बाद में चोरी-छिपे जाना शुरू किया। उधर सुरक्षा एजेंसियों की सख्ती बरकरार रही। इसके बावजूद लोन ने आसपास के इलाकों में धीरे-धीरे आतंक की जमीन तैयार करनी शुरू कर दी थी। इस दौरान उसने कुछ पुराने आकाओं से भी संपर्क किया था। कैसे मिला सुराग जम्मू कश्मीर में सीआरपीएफ पर हुए हमले के बाद आतंकियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई में जुटी एजेंसियों ने स्थानीय व केंद्रीय खुफिया इकाइयों की मदद से संदिग्धों की सूची तैयार की जा रही थी। इस दौरान फरार आतंकी लोन के बारे में जानकारी मिली तो सुरक्षा एजेंसियों से डिटेल साझा किया। इसके बाद पुलिस टीम लगातार इसकी गतिविधि पर नजर रखने लगी। आखिरकार जानकारी मिलते ही स्पेशल सेल की टीम ने उसे गिरफ्तार कर लिया। वर्ष-2007 में विस्फोटक के साथ आया था दिल्ली स्पेशल सेल के डीसीपी संजीव यादव के अनुसार वर्ष-2007 में केंद्रीय खुफिया इकाइयों से यह सूचना मिली थी कि आतंकी संगठन जैश ए मोहम्मद के पाकिस्तानी कमांडर फारुख कुरैशी ने जम्मू कश्मीर के एरिया कमांडर हैदर उर्फ डॉक्टर को दिल्ली में बड़ी आतंकी वारदात को अंजाम देने का निर्देश दिया था। इसके लिए हैदर ने बशीर को हथियार व विस्फोटक की व्यवस्था कर आतंकियों के साथ दिल्ली रवाना होने का निर्देश दिया था। इसके लिए बांग्लादेश सीमा के रास्ते भारत में प्रवेश करने वाले पाकिस्तानी आतंकी शाहिद गफ्फूर, कश्मीरी अबुल माजिद बाबा व फय्याज अहमद लोन के साथ जैश कमांडर बशीर अहमद पोनू उर्फ मौलवी मालवा एक्सप्रेस ट्रेन पर सवार होकर दिल्ली पहुंचा था। सजा होते ही वर्ष-2015 से फरार था कुपवाड़ा निवासी आतंकी फय्याज अहमद लोन वर्ष-2015 में हाईकोर्ट द्वारा सजा सुनाए जाने के बाद अपने दोनों साथियों के साथ फरार हो गया था। दिल्ली हाईकोर्ट ने उसके खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया था। इस बीच यह सूचना मिली कि वह कश्मीर में छिपा है और दोबारा से आतंकियों के नेटवर्क से जुड़कर नया मॉड्यूल तैयार कर रहा है। सूचना के आधार पर स्पेशल सेल की टीम 31 मार्च को उसे कुपवाड़ा से दबोच लिया। हिन्दुस्थान समाचार/अश्वनी शर्मा/बच्चन
लोकप्रिय खबरें
फोटो और वीडियो गैलरी
image