Hindusthan Samachar
Banner 2 सोमवार, अप्रैल 22, 2019 | समय 05:37 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

ठगी के मामले में दो महिला समेत तीन गिरफ्तार

By HindusthanSamachar | Publish Date: Mar 31 2019 8:03PM
ठगी के मामले में दो महिला समेत तीन गिरफ्तार
नई दिल्ली, 31 मार्च (हि.स.)। उत्तर पश्चिमी जिले के नेताजी सुभाष पैलेस इलाके में एक युवक ने दो महिला साथियों के साथ मिलकर डॉलर का झांसा देकर लाखों रुपये ठगी करने की कोशिश की। इन्हें शिकायतकर्ता की सहायता से पुलिस ने रंगेहाथों गिरफ्तार कर लिया। आरोपितों की पहचान फैजुल, महिला साथी रोजीना उर्फ परवीन और सुम्मी बेगम के रूप में हुई है। तीनों के कब्जे से बैग में रखी कागज की गड्डी, एक यूएस डॉलर और पीड़ित द्वारा दिये पांच हजार रुपये भी जब्त किए गए। तीनों आरोपित इससे पहले भी लोगों को झांसा देकर इसी तरह से लाखों रुपये ठग चुके हैं। पीड़ित के दोस्त को भी एक साल पहले एक लाख रुपये ठगे थे, जिसने तीनों की पहचान की है। पुलिस पीड़ित के बयान पर केस दर्ज कर आरोपितों से पूछताछ कर जानने की कोशिश कर रही है, तीनों ने इस तरह से कितनी ठगी की वारदातों को अंजाम दिया है। तीनों को शनिवार दोपहर में गिरफ्तार किया है। नोट दिखाकर पहले दिया झांसा उत्तर पश्चिमी जिले की डीसीपी विजेता आर्या के अनुसार पीड़ित राहुल परिवार के साथ नंद नगरी इलाके में रहता है। वह टैक्सी चलाया करता है। तीन दिन पूर्व सुबह सवा दस जब वह अपनी टैक्सी गुरुद्वारा बंगला साहेब के पास सड़क किनारे खड़ी कर रखी थी। उसके पास फैजुल नामक एक युवक आया। उसने खुद को पेंटर बताकर 20 डालर का नोट दिखाया। उसने पूछा कि क्या ये नोट यहां पर चल जाएगा। फैजुल को राहुल ने बताया कि इसके बदले उसे 1400 रुपये मिल जाएंगे। उसने बताया कि कुछ दिन पहले उसकी बुआ विदेश गई थी। उसके पास ही बीस डॉलर के करीब 15 सौ नौट हैं। बुआ ही दिमागी हालत खराब है। उसको डर है बुआ नोटों को किसी को दे सकती है। उनको नहीं पता नोट कैसे यहां पर चलेगें। बुआ ने उसे कहा है कि यदि कोई चार पांच लाख रुपये उसे दे तो वह डॉलर उसे दे सकती है। दोस्त के साथ हुई घटना पर हुआ शक इधर राहुल ने फैजुल को इतने रुपये होने की बात से मना कर दिया। फिर भी फैजुल ने उसका मोबाइल फोन नंबर ले लिया। इसी बीच राहुल को याद आया कि पिछले साल उसके एक जानकार टैक्सी ड्राइवर बलविंदर सिंह से भी एक महिला ने अपने साथी की सहायता से इसी तरह से एक लाख रुपये ठग लिए थे। बलविंदर को मामले की जानकारी देकर फैजुल का हुलिया बताया। बलविंदर के सामने ही फैजुल से फोन पर संपर्क किया। फैजुल ने दोनों को डॉलर शकूरपुर मैट्रो स्टेशन पर दिखाने की बात कही। दोनों ने मामले की सूचना पुलिस को देकर अपने एक अन्य साथी भुवन जोशी के साथ टैक्सी से मैट्रो स्टेशन पर आए गए। पुलिस ने लगाया ट्रैप नेताजी सुभाष प्लेस थाने के एसएचओ सतीश कुमार की देखरेख में सब इंस्पेक्टर कुलदीप कॉन्स्टेबल मुरारी व अन्य स्टॉफ के साथ मौके पर पहुंचकर घेराबंदी कर दी गई। फैजुल ने राहुल को फोन कर शकूरपुर फुटओवर ब्रिज के पास बुलाया और एक महिला से मिलकर डॉलर लेने की बात कही। मौके पर पहुंचकर राहुल ने इंतजार किया तो दो महिलाएं वहां आईं, जिसके बैग में रूमाल में कुछ बंधा हुआ था। रूमाल में महिला ने डॉलर की एक झलक दिखाई। एक लाख रुपये में बात तय हो गई। फैजुल को पांच हजार रुपये देकर कहा कि बाकि के रुपये पास ही खड़े दोस्त के पास हैं। महिला ने बैग उसे दे दिया। बैग में देखा तो रूमाल में यूएस डॉलर दिखाई दे रहा था। रूमाल खोलने पर ऊपर एक डॉलर बाकी नीचे कागज की गड्डी रखी हुई थी। इधर मौके पर ही पुलिस ने तीनों को दबोच लिया। हिन्दुस्थान समाचार/अश्वनी
लोकप्रिय खबरें
फोटो और वीडियो गैलरी
image