Hindusthan Samachar
Banner 2 रविवार, अप्रैल 21, 2019 | समय 15:44 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

पीएसजीएससी में गोपाल सिंह चावला के शामिल होने से और खराब हो सकते है रिश्ते:सिरसा

By HindusthanSamachar | Publish Date: Mar 29 2019 9:36PM
पीएसजीएससी में गोपाल सिंह चावला के शामिल होने से और खराब हो सकते है रिश्ते:सिरसा
नई दिल्ली, 29 मार्च (हि.स.)। दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (डीएसजीएमसी) ने शुक्रवार को पाकिस्तान सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (पीएसजीएससी) के नए गठन में अलगाववादी नेता गोपाल सिंह चावला को कमेटी में शामिल किए जाने पर कड़ा विरोध जताया। डीएसजीएमसी ने पाकिस्तान सरकार को अपील किया है कि गुरू नानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व से जुड़े समागमों के कार्यक्रमों में किसी भी अलगाववादी नेता या उनके समर्थकों को शमिल ना किया जाए। शुक्रवार को जारी एक बयान में डीएसजीएमसी के अध्यक्ष मनजिन्दर सिंह सिरसा ने कहा कि 550वें प्रकाश पर्व समागम के लिए नई कमेटी का गठन स्वागत योग्य कदम है परन्तु भारत में सिख भाईचारा के सदस्य कमेटी में अलगाववादी नेता गोपाल सिंह चालवा को शमिल किया जाना उचित नहीं। उन्होंने कहा कि गोपाल सिंह चावला आतंकवादी हाफीज सईद के समर्थक हैं और उन्होंने सार्वजनिक तौर पर भारत के खिलाफ हिंसा करने की वकालत की है। ऐसे व्यक्ति दोनों देशों के रिश्ते और भी खराब हो सकते हैं। उन्होंने कहा कि ऐसे व्यक्ति को गुरू नानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व समागम का हिस्सा नहीं होना चाहिए, क्योंकि गुरू नानक देव जी ने तो शांति, सद्भावना एवं आपसी प्यार भाईचारा कायम रखने के लिए विश्व स्तर पर परमात्मा का संदेश दिया है। सिरसा ने कहा कि विश्वभर के सिख करतारपुर साहिब कॉरिडोर जल्द पूरा होने एवं करतारपुर साहिब में गुरूद्वारा दरबार साहिब के दर्शन के लिए मुफ्त वीजा के लिए दोनों देशों की ओर देख रहे हैं। वहीं दोनों मुल्क इस ऐतिहासिक अवसर का लाभ लेते हुए अपने रिश्तों को सुधारने की दिशा में ध्यान देना चाहिए। उन्होंने आशा जताई कि नई बनी पीएसजीएमसी कमेठी करतारपुर साहिब कॉरिडोर जल्द पूरा करने की ओर ध्यान देगी और गोपाल सिंह चावला जैसे व्यक्तियों को अनदेखी करेगी। हिन्दुस्थान समाचार/वीरेन/गोविन्द
लोकप्रिय खबरें
फोटो और वीडियो गैलरी
image