Hindusthan Samachar
Banner 2 सोमवार, अप्रैल 22, 2019 | समय 06:07 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

सुप्रीम कोर्ट ने वकील मैथ्यू नेदुंपरा को फटकार लगाई

By HindusthanSamachar | Publish Date: Mar 27 2019 12:16PM
सुप्रीम कोर्ट ने वकील मैथ्यू नेदुंपरा को फटकार लगाई
नई दिल्ली, 27 मार्च (हि.स.)। वरिष्ठ वकील फाली एस नरीमन के सुप्रीम कोर्ट में प्रैक्टिस करने पर आपत्ति जताने पर आज कोर्ट ने वकील मैथ्यू नेदुंपरा को फटकार लगाई। सुनवाई के दौरान फाली एस नरीमन के पुत्र और सुप्रीम कोर्ट के जज जस्टिस आरएफ नरीमन ने कहा कि क्या आपको पता है कि मेरी बेटी भी वकील है और उसे हमारे कोर्ट में घुसने की अनुमति नहीं है। इस मामले में सुप्रीम कोर्ट ने नेदुंपरा को कोर्ट की अवमानना का दोषी पाया था। आज सुनवाई के दौरान कोर्ट ने कहा कि आप सजा पर दोपहर 2 बजे बहस कीजिए। पिछले 12 मार्च को सुप्रीम कोर्ट ने 30-35 साल की प्रैक्टिस कर चुके और 62 साल की आयु पर कर चुके वकील को सीनियर वकील घोषित करने की मांग वाली याचिका सुप्रीम कोर्ट ने खारिज कर दी थी। इस मामले में सुप्रीम कोर्ट ने बेतुकी दलील देने पर वकील मैथ्यू नेदुंपरा को अवमानना का दोषी करार दिया था । नेदुंपरा ने वरिष्ठ वकील बनाए जाने की प्रक्रिया को चुनौती दी थी। जस्टिस रोहिंटन नरीमन के सामने जिरह करते हुए उन्होंने उनके पिता वरिष्ठ वकील फाली एस नरीमन का जिक्र किया था। नेदुंपरा ने कहा था कि जजों के पुत्र और पुत्रियों को ही सीनियर वकील का दर्जा दिया जाता है। नेदुंपरा ने याचिका दायर कर कहा था कि सीनियर वकीलों का दर्जा देने में भेदभाव और पक्षपात किया जाता है। याचिका में कहा गया था कि जब तक सीनियर वकीलों का दर्ज देने की वर्तमान व्यवस्था खत्म नहीं हो जाती तब तक उन वकीलों को सीनियर वकील का दर्जा दिया जाए जिनकी प्रैक्टिस 35 साल हो चुकी है या उनकी उम्र 62 साल हो चुकी है। हिन्दुस्थान समाचार/संजय/राधा रमण
लोकप्रिय खबरें
फोटो और वीडियो गैलरी
image