Hindusthan Samachar
Banner 2 सोमवार, अप्रैल 22, 2019 | समय 01:40 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

पुलिस ने दो शातिर बदमाशों को किया गिरफ्तार

By HindusthanSamachar | Publish Date: Mar 26 2019 9:52PM
पुलिस ने दो शातिर बदमाशों को किया गिरफ्तार
नई दिल्ली, 26 मार्च (हि.स.)। खोड़ा कॉलोनी में रंगदारी वसूलने तथा अपना सिक्का जमाने के लिए दो लोगों की हत्या की साजिश के मामले में स्पेशल सेल ने दो बदमाशों को गिरफ्तार किया है। रंगदारी वसूलने के लिए अपना वर्चस्व स्थापित करने का प्रयास करने वाले गिरोह का सरगना खोड़ा का रहने वाला चंद्रभान उर्फ अमन यादव उर्फ चौवा है, जो इस समय मंडोली जेल में है। उसने जेल से ही अपने गुर्गों को दो लोगों की हत्या करने का आदेश दिया था। पकड़े गए दोनों बदमाशों की पहचान दिल्ली के त्रिलोकपुरी के रहने वाले बाल किशन और खोड़ा कॉलोनी के करन विहार निवासी मोहम्मद अतीक के रूप में हुई है। दोनों के पास से स्पेशल सेल ने एक पिस्टल, एक तमंचा, सात कारतूस और चोरी की बाइक बरामद की है। स्पेशल सेल के डीसीपी प्रमोद सिंह कुशवाहा ने बताया कि अवैध रूप से हथियारों की तस्करी करने वाले गिरोह के ऊपर मुखबिरों के जरिए नजर रखी जा रही थी। इसी दौरान सूचना मिली कि जेल में बंद गैंग सरगना इस समय हथियारों की खरीद करा रहे हैं। मुखबिर ने सूचना दी कि जेल में बंद चंद्रभान खोड़ा कॉलोनी में रंगदारी वसूलने के लिए अपना वर्चस्व स्थापित कराने के लिए दो लोगों की हत्या कराने के लिए दो गुर्गों को तैयार कर चुका है। स्पेशल सेल ने मामला दर्ज करके जांच शुरू की। स्पेशल सेल की टीम ने खोड़ा कॉलोनी में बाल भारती पब्लिक स्कूल के पास से दो बदमाशों को पकड़ लिया। पकड़े गए दोनों बदमाश पहले भी कई मामलों में जेल जा चुके हैं। एक बदमाश मोहम्मद अतीक फरवरी में 32 माह की जेल काटकर तिहाड़ से बाहर आया था। वह चंद्रभान का पुराना दोस्त है और एक बुजुर्ग दंपति को लूटने के मामले में जेल गया था। वहीं दूसरा बदमाश बाल किशन 2004 में पहली बार जेल गया था। इसके बाद वह पांच बार जेल गया। 2013 में जेल जाने के बाद वह छह वर्ष तक जेल में रहा, यहां उसकी मुलाकात चंद्रभान से हुई थी। अप्रैल 2018 में वह जेल से बाहर आया था। जेल में रहते हुए चंद्रभान ने उसे अपने गैंग में शामिल किया और खोड़ा कॉलोनी में हत्या करने की जिम्मेदारी दी थी। जिन दो लोगों की खोड़ा कॉलोनी में हत्या करनी थी, उनमें से एक वह है, जिससे चंद्रभान ने रंगदारी मांगी थी लेकिन उस व्यक्ति ने पुलिस से शिकायत की और इस मामले में चंद्रभान को जेल हुई। दूसरा व्यक्ति चंद्रभान का पुराना साथी है और इन दिनों वे रंगदारी वसूल रहा है। दोनों की हत्या करके खौफ पैदा करने के साथ रंगदारी वसूलने में अपना वर्चस्व स्थापित करना चाहता था। हिन्दुस्थान समाचार/अश्वनी
लोकप्रिय खबरें
फोटो और वीडियो गैलरी
image