Hindusthan Samachar
Banner 2 शुक्रवार, मार्च 22, 2019 | समय 16:02 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

लोको पायलट ने मांगों को लेकर जंतर-मंतर पर दिया धरना

By HindusthanSamachar | Publish Date: Feb 18 2019 9:21PM
लोको पायलट ने मांगों को लेकर जंतर-मंतर पर दिया धरना
नई दिल्ली, 18 फरवरी (हि.स.)। ऑल इंडिया लोको रनिंग स्टॉफ एसोसिएशन (एआइएलआरएसए) के आह्वान पर देश भर के कई राज्यों से आए लोको पायलट ने रनिंग भत्ता रनिंग अलाउंस कमेटी (आरएसी) 1980 के फार्मूले के तहत लागू भत्ते की मांग को लेकर जंतर-मंतर पर धरना प्रदर्शन किया। इस धरना प्रदर्शन में 17 जोन, 58 डिवीजन और कोलकाता मेट्रो से आए साढे तीन हजार लोको पायलटों ने भाग लिया। पायलटों ने प्रधानमंत्री व रेल मंत्री से रनिंग भत्ता आरएसी 1980 को लागू की मांग की। एआइएलआरएसए के महासचिव एम.एन प्रसाद ने कहा कि जहां अन्य सभी कर्मचारी को सातवें वेतन आयोग के बाद से ही ट्रैवलिंग अलाउंस टीए के भुगतान का लाभ ले रहे हैं लेकिन लोको रनिंग स्टाफ को उनके मूल वेतन के एक हिस्से के साथ टीए का भुगतान अभी तक नहीं किया गया। यह भुगतान 1980 में बनी आरएसी रनिंग अलांउस कमेटी के द्वारा दिया जाना चाहिए था जो कि नहीं किया गया। उन्होंने रेलवे प्रशासन पर आरोप लगाते हुए कहा कि रेलवे बोर्ड इस आरएसी 1980 कमेटी के साथ छेड़छाड़ करना चाहता है। चौथे वेतन आयोग से ही हमारे वेतन भत्तों के साथ छेड़छाड़ की जा रही है, जो कि गलत है। उन्होंने कहा कि लोको पायलट कर्मियों का यात्रा भत्ता 100 किलोमीटर के माइलेज पर देना तय हुआ था। भारत सरकार ने 1980 में रनिंग अलाउंस कमेटी बनायी थी जो 1981 में लागू भी हुई। उक्त कमेटी द्वारा सभी केंद्रीय कर्मचारियों का भत्ता तय किया गया। 7वां वेतन आयोग में संशोधन करके वेतन भत्ते में बढ़ोतरी भी कर दी गयी, जबकि एक मात्र लोको पायलट का भत्ता तय नहीं किया गया। इस बीच रेलवे के साथ कई दौर की वार्ता भी हुई पर माइलेज रेट तय नहीं किया गया। अगर रेलवे प्रशासन को 31 मार्च तक हमारी मांगे नहीं मानता तो हम सभी लोको पायलट अनिश्चितकालीन हड़लात पर जाने का आह्वान करते है। एम.एन प्रसाद ने बताया कि हमारे रनिंग स्टाफ की कुछ मांगे है कि आसएसी 1980 के फार्मलू से ही माइलेज रेट का निर्धारण हो, न्यू पेंशन स्कीम (एनपीएस) को बदले कर पुरानी पेंशन स्कीम लागू हो जिससे 55 प्रतिशत रिटायरमेंट को लाभ मिले, हाई स्पीड ट्रेन के लिए अलग से पे स्केल लागू हो और ड्यूटी ऑवर्स तथा साप्ताहिक विश्राम की समस्या को तुरंत हल किया जाए। इन्ही मांगों को लेकर आज यहां पर इक्कठा होकर रेलवे प्रशासन को चुनौती देते हैं। हिन्दुस्थान समाचार/वीरेन
लोकप्रिय खबरें
फोटो और वीडियो गैलरी
image