Hindusthan Samachar
Banner 2 शुक्रवार, मार्च 22, 2019 | समय 15:29 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

अर्पित होटल अग्निकांड: साहब हमारे अपने तो चले गये, सामान तो दिलवा दो !

By HindusthanSamachar | Publish Date: Feb 13 2019 9:11PM
अर्पित होटल अग्निकांड: साहब हमारे अपने तो चले गये, सामान तो दिलवा दो !
नई दिल्ली, 13 फरवरी (हि.स.)। साहब हमारा सामान दिलवा दो, हमारे अपने तो चले गए...। होटल अर्पित पैलेस में आग लगने के बाद बुधवार को मृतकों के परिजन उनका सामान लेने होटल पहुंचे। मृतकों के परिजन पुलिस अधिकारियों से सामान लेने की गुहार लगा रहे थे। पुलिस ने जांच के लिए होटल को सील किया हुआ था। काफी देर गिड़गिड़ाने के बाद पुलिस अधिकारियों ने कुछ लोगों को सामान ले जाने की इजाजत भी दी। बाकी सभी लोगों को दो-चार दिन बाद आने की बात बताई जा रही थी। हादसे में हताहत हुए लोगों के परिजनों का कहना था कि उनकी बुधवार रात को ही फ्लाइट है, उन्हें शव लेकर अपने-अपने राज्य जाना है। उधर दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने हादसे की जांच शुरू कर दी है। गिरफ्तार किए गए होटल अर्पित के दोनों मैजेनर राजेंद्र व विकास को कोर्ट में पेश किया गया, जहां से दोनों को दो दिन की पुलिस रिमांड पर भेज दिया गया। मामले में फिलहाल होटल का मालिक फरार है। पुलिस मालिक समेत अन्य लोगों की तलाश कर रही है। आग में फंसने के बाद भी पत्नी को किया कॉल तमिलनाडु से दिल्ली कांफ्रेंस में हिस्सा लेने आए डॉ. शंकर नारायण के परिजनों ने बताया कि डॉक्टर शंकर तीसरी मंजिल पर रूम नंबर-304 में रुके हुए थे। आग लगने पर वह बुरी तरह फंस गए। 4.45 बजे उन्होंने अपनी पत्नी को तमिलनाडु में व्हाट्सऐप मैसेज किया था लेकिन वह मैसेज में कुछ लिख नहीं पाए। बाद में उनकी हादसे में मौजूद हो गई। इधर रूम नंबर-204 में रुके तमिलनाडु के ही नंद कुमार और अरविंद के परिजन भी उनका सामान लेने होटल पहुंचे। पुलिस कर्मियों ने उनके परिजनों को अंदर जाने की इजाजत दे भी दी लेकिन अंदर उनका सामान नहीं मिला। पुलिस ने उन्हें दो-चार दिन बाद दोबारा आने के लिए कहा। इंफाल से आए दंपति हादसे वाले दिन चौथी मंजिल पर था। उनको दमकल कर्मियों ने किसी तरह बचा लिया था, लेकिन उनका कीमती सामान होटल में अंदर रखा था। बुधवार को उनका सामान भी नहीं मिल पाया। उनको भी पुलिस कर्मियों ने बाद में आने के लिए कहा। अभी तक की यह है जांच उधर होटल अर्पित पैलेस हादसे की जांच मंगलवार देर रात को ही क्राइम ब्रांच ने शुरू कर दी। मामले की जांच कर रहे पुलिस अधिकारियों ने बताया कि शुरुआती जांच के बाद पता चला कि होटल में कुल 46 कमरों से 35 में करीब 60 गेस्ट रुके हुए थे। इसके अलावा होटल के करीब 12 कर्मचारी रात के समय ड्यूटी पर मौजूद थे। होटल से मिले रजिस्टर व अन्य सामान की मदद से मामले की जांच की जा रही है। होटल के दोनों मैनेजर राजेंद्र कुमार व विकास कुमार से पूछताछ की जा रही है। होटल में उस रात मौजूद कर्मचारियों की लिस्ट बनवाई जा रही है। बाकी फरार हुए होटल के कर्मचारियों की तलाश की जा रही हैं। हिन्दुस्थान समाचार/अश्वनी शर्मा /दधिबल
लोकप्रिय खबरें
फोटो और वीडियो गैलरी
image