Hindusthan Samachar
Banner 2 शुक्रवार, नवम्बर 16, 2018 | समय 13:33 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

सतनामी समाज के गुरु बालदास 200 समर्थकों के साथ कांग्रेस में हुए शामिल

By HindusthanSamachar | Publish Date: Nov 6 2018 5:41PM
सतनामी समाज के गुरु बालदास 200 समर्थकों के साथ कांग्रेस में हुए शामिल
रायपुर, 6 नवंबर (हि.स.)। छत्तीसगढ़ की राजनीति ने एक नया मोड़ ले लिया है। छत्तीसगढ़ की कई सीटों पर अपना प्रभाव रखने वाले सतनामी समाज के गुरू बालदास अपने बेटे और 200 समर्थकों के साथ कांग्रेस में शामिल हो गए। कांग्रेस के कद्दावर नेता पीएल पुनिया और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल ने बालदास को पार्टी में शामिल किया। आपको बता दें कि बालदास पिछले विधानसभा चुनावों में भाजपा के साथ थे। सतनामी गुरू के कद का आंकलन ऐसे भी लगाया जा सकता है कि ये छत्तीसगढ़ की 26 सीटों पर सीधा दखल रखते हैं, इस बार बालदास कांग्रेस को फायदा पहुंचा सकते हैं। गुरु बालदास और उनके बेटे खुशवंत सहाय ने भाजपा पर आरोप लगाया कि 15 सालों में भाजपा ने उनके समाज के लिए कोई कार्य नहीं किया, इसलिए वो भाजपा की सरकार से दुखी होकर कांग्रेस का सहयोग करगें। गुरू बालदास ने कहा कि भाजपा ने उनके समाज को अपने से दूर रखा। भाजपा ने सतनामी समाज के लोगों की अनदेखी की है। बालदास ने कहा कि भाजपा की सरकार में गरीबों पर हो रहा अत्याचार अपने चरम पर है। सतनामी गुरू ने कांग्रेस में शामिल होने के बाद कहा कि छत्तीसगढ़ की सरकार ने लोगों को जाति-धर्म में बांटने का काम किया है। समाज के लोगों को भाजपा की सरकार ने कोई भी अवसर नहीं दिया। सतनामी समाज कांग्रेस का पुराना वोटर रहा है, मेरे समाज के लोग इस निर्णय को सही मान रहे हैं। उन्होंने कहा कि सतनामी समाज के लोगों का विकास सिर्फ कांग्रेस ही कर सकती है। भाजपा पर आरोप लगाते हुए बालदास ने कहा कि भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष वोटों का ध्रुवीकरण करने के लिए गुरू घासीदास के स्मारक गए थे पर समाज ने कांग्रेस का साथ देने का मन बना लिया था इसलिए मैंने यह निर्णय लिया। आपको बता दें कि सतनामी समाज का प्रदेश की 26 सीटों पर सीधा प्रभाव है, जिसके चलते कहीं ना कहीं भाजपा और चुनाव लड़ रही कई पार्टियों को नुकसान हो सकता है। छत्तीसगढ़ में 35 लाख अनुसूचित जाति के लोग निवास करते हैं। जिसमें से रायपुर, बिलासपुर और दुर्ग में सतनामी समाज के लोगों की संख्या सबसे अधिक है। जिन 26 सीटों पर सतनामी समाज की पकड़ है उनमें से इस समय 12 सीटें कांग्रेस, 1 बसपा और बाकी की 13 सीटों पर भाजपा के विधायक हैं। बालदास के कांग्रेस में शामिल होने से चुनावी समीकरण में बदलाव हो सकता है। हिन्दुस्थान समाचार / मधुकर/चंद्र नारायण
image