Hindusthan Samachar
Banner 2 शुक्रवार, नवम्बर 16, 2018 | समय 13:42 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

दूसरे चरण के लिए 1101 उम्मीदवार मैदान में, मतदाताओं को लुभाने में जुटे प्रत्याशी

By HindusthanSamachar | Publish Date: Nov 6 2018 3:43PM
दूसरे चरण के लिए 1101 उम्मीदवार मैदान में, मतदाताओं को लुभाने में जुटे प्रत्याशी
रायपुर, 06 नवंबर (हि.स.)। छत्तीसगढ़ में हो रहे विधानसभा चुनाव में दूसरे चरण के लिए 19 जिलों की 72 सीटों के लिए 1101 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं। दूसरे चरण के चुनाव के लिए 26 अक्टूबर को अधिसूचना जारी होने के बाद से 02 नवंबर तक चली नामांकन दाखिले की प्रक्रिया के दौरान 2,655 अभ्यर्थियों ने अपना नामांकन पत्र जमा किए थे। पांच नवंबर को संवीक्षा के बाद कुल 1249 उम्मीदवारों का नामांकन विधिमान्य पाया गया। छह नवंबर को कुल 148 उम्मीदवारों ने अपना नाम वापस ले लिया। अब मैदान में कुल 1101 उम्मीदवार हैं। इनके भाग्य का फैसला इस महीने की 20 तारीख को यहां के मतदाता करेंगे। राज्य में चुनाव को देखते हुए सभी राजनीतिक दल धुआंधार प्रचार कर रहे हैं। राज्य के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी और कार्यालय के अधिकारियों ने बताया कि सोमवार पांच नवम्बर को नामांकन वापस लेने की अंतिम के बाद कुल 1,101 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं। दूसरे चरण के निर्वाचन के लिए 19 जिलों की 72 विधानसभा क्षेत्रों में 20 नवम्बर को मतदान और 11 दिसम्बर को मतगणना होगी। बताते चलें कि राज्य में हो रहे विधानसभा चुनाव में दो चरणों में मतदान होगा। दोनों चरणों में कुल 1,291 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं। पहले चरण के तहत, नक्सल प्रभावित बस्तर क्षेत्र के सात जिलों और राजनांदगांव जिले की 18 सीटों के​ लिए 12 नवंबर को मतदान होगा। राज्य में दूसरे चरण के मतदान के लिए रायपुर दक्षिण सीट में सबसे अधिक 46 उम्मीदवार और बिंद्रानवागढ़ में सबसे कम छह उम्मीदवार मैदान में हैं। राज्य में 90 में से 10 सीटें अनुसूचित जाति के लिए तथा 29 सीटें अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित हैं। राज्य में कुल 1,85,59,936 मतदाता हैं। इनमें से पुरुष मतदाताओं की संख्या 92,95,301 और महिला मतदाताओं की संख्या 92,49,459 है। वहीं 1059 तृतीय लिं​ग के मतदाता हैं। छत्तीसगढ़ में 19 विधानसभा क्षेत्र ऐसे हैं जहां 16 उम्मीदवार से ज्यादा प्रत्याशी मैदान में हैं। इन सीटों पर दो से अधिक ईवीएम लगाए जाएंगे। तीन विधानसभा क्षेत्रों में उम्मीदवारों की संख्या 32 से अधिक होने के कारण तीन बैलेट यूनिट लगाई जाएंगी। जीत ​हासिल करने के लिए राज्य के सभी राजनीतिक दल धुआंधार प्रचार शुरू कर दिए हैं। पहले चरण में मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह, उनके मंत्रिमंडल के दो सदस्यों और पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की भतीजी करूणा शुक्ला के भाग्य का फैसला होगा। गौर करने वाली बात यह है कि करूणा शुक्ला आेर डॉ. रमन सिंह आमने-सामने हैं। वहीं दूसरे चरण में राज्य के नौ मंत्री रायपुर दक्षिण से बृजमोहन अग्रवाल, रायपुर पश्चिम से राजेश मूणत, बिलासपुर से अमर अग्रवाल, बैकुंठपुर से भैयालाल राजवाड़े, प्रतापपुर से रामसेवक पैकरा, मुंगेली से पुन्नूलाल मोहिले, भिलाई नगर से प्रेम प्रकाश पांडेय, नवागढ़ से दयालदास बघेल और कुरूद से अजय चंद्राकर चुनाव मैदान में हैं। वहीं भाजपा प्रदेश अध्यक्ष धर्मलाल कौशिक बिल्हा विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ रहे हैं। दूसरे चरण में ही पाटन से प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष भूपेश बघेल, अंबिकापुर से विपक्ष के नेता टीएस सिंहदेव, दुर्ग ग्रामीण से कांग्रेस सांसद ताम्रध्वज साहू और सक्ती से पूर्व केंद्रीय मंत्री चरणदास महंत भी अपनी किस्मत आजमा रहे हैं। वहीं जनता कांग्रेस छत्तीगसढ़ (जे) से पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी मारवाही सीट से, उनकी पत्नी रेणु जोगी कोटा सीट से चुनाव लड़ रहे हैं। जोगी की बहू ऋचा जोगी बहुजन समाज पार्टी के टिकट पर अकलतरा सीट से चुनाव मैदान में है। नई पार्टी का गठन करने वाले पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी बहुजन समाज पार्टी और भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के साथ मिलकर चुनाव लड़ रहे हैं। हिन्दुस्थान समाचार/चंद्र नारायण/बच्चन
image