Hindusthan Samachar
Banner 2 शुक्रवार, नवम्बर 16, 2018 | समय 13:14 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

माओवादियों के आत्मसमर्पण से मतदान प्रभावित होने की अटकलों पर विराम

By HindusthanSamachar | Publish Date: Nov 6 2018 2:38PM
माओवादियों के आत्मसमर्पण से मतदान प्रभावित होने की अटकलों पर विराम
रायपुर, 06 नवम्बर (हि.स.)। छत्तीसगढ़ में चुनाव के बीच माओवादियों के खिलाफ चलाए जा रहे अभियान के तहत पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली है। पहले चरण के मतदान से पूर्व काम्बिंग से परेशान होकर बस्तर पुलिस के सामने 62 माओवादियों ने आत्मसमर्पण कर दिया। एकसाथ 62 माओवादियों के आत्मसमर्पण से पहले चरण में बस्तर संभाग में आने वाली 12 सीटों पर मतदान के प्रभावित होने और बड़ी साजिश की अटकलों पर विराम लग गया है। छत्तीसगढ़ राज्य में विधानसभा चुनाव की तैयारियां चरम पर हैं। अपनी-अपनी विधानसभा सीटों पर उम्मीदवारों के साथ सियासी दलों के समर्थक की भीड़ सहित प्रचार के लिए आने-जाने वाले वीवीआईपी की सुरक्षा पुलिस के लिए चुनौती बनी हुई है। क्योंकि इस दौरान नक्सलियों द्वारा चुनाव प्रभावित करने की भी गतिविधियों में इजाफा हो रहा है। इस चुनौती को मंगलवार को उस व​क्त बड़ी कामयाबी मिली, जब चुनाव प्रभावित करने को लेकर माओवादियों के खिलाफ चलाए जा रहे अभियान के तहत 62 माओवादियों ने आत्मसमर्पण कर दिया। बस्तर पुलिस महानिरीक्षक (आईजी) विवेकानंद सिन्हा के सामने नारायणपुर के अबुझमाड़ में सक्रिय 62 माओवादियों ने समाज की मुख्यधारा से जुड़ने का फैसला लिया। यहां पर आईजी के नेतृत्व में लगातार छेड़ी गई मुहिम के तहत 62 माओ​वादियों को हथियार डालने पर मजबूर कर दिया। इस मौके पर आत्मसमर्पण करने वाले माओवादियों ने अब हाथों में हथियार के बजाए समाज, प्रदेश की भलाई व तरक्की के लिए काम करने का निर्णय लिया है। बता दें कि, बस्तर संभाग में 12 नवंबर को पहले चरण के तहत यहां की 12 सीटों पर मतदान होना है। मतदान से पूर्व आईजी सहित अन्य पुलिस अधिकारियों के सामने 51 माओवादी हाथों में हथियार लेकर पहुंचे और कुल 62 ने आत्मसमर्पण किया। माना जा रहा है कि माओवादियों के इस कदम से बस्तर संभाग की विधानसभा सीटों पर मतदान का प्रतिशत बढ़ेगा और प्रदेश में भी चुनाव में मतदाता बढ़-चढ़कर हिस्सा लेंगे। माओवादियों के आत्मसमर्पण के मामले पर बस्तर संभाग में आने वाली नक्सल प्रभावित क्षेत्र दंतेवाड़ा सीट से चुनाव मैदान में उतरे भाजपा उम्मीदवार भीमा मंडावी ने कहा, यह बस्तर वासियों व लोकतंत्र के सम्मान में बड़ा शुभ संकेत है। इससे लोगों में विश्वास जगेगा और वह चुनाव में ज्यादा से ज्यादा मतदान के लिए घरों से निकलेंगे। हिन्दुस्थान समाचार/मोहित/चंद्र नारायण/बच्चन
image