Hindusthan Samachar
Banner 2 सोमवार, नवम्बर 19, 2018 | समय 08:14 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

शांतिपूर्ण चुनाव कराने अवांछितों की बनायी जा रही सूची

By HindusthanSamachar | Publish Date: Oct 25 2018 1:45PM
शांतिपूर्ण चुनाव कराने अवांछितों की बनायी जा रही सूची

हरीश

कोरबा। जिले में शांतिपूर्ण एवं निष्पक्ष चुनाव कराने के लिए जिला दंडाधिकारी एवं चुनाव अधिकारी मो. अब्दुल कैसर हक के द्वारा जारी दिशा निर्देश के परिपालन हेतु एसपी मयंक श्रीवास्तव के निर्देशानुसार जिले के समस्त थाना एवं चौकी क्षेत्रों के प्रभारी अपने मातहतों के माध्यम से संवेदनशील, अति संवेदनशील मतदान केंद्रों की पल-पल की जानकारी रखने की कवायद शुरू कर दिए हैं। वहीं दूसरी ओर चुनाव बाधित करने वाले अवांछित तत्वों की भी सूची बनायी जा रही है जिससे कि उनके उपर समय रहते कार्रवाई की जा सके।

एसपी के निर्देशानुसार जिले के सभी थाना एवं चौकी क्षेत्रों के निगरानी बदमाशों, लगातार आपराधिक वारदातों को अंजाम देने वाले, चुनाव के दौरान मतदान के पूर्व या मतदान के दिन ऐसे लोग जो शांति भंग कर सकते हैं उनके उपर भी पुलिस द्वारा कड़ी नजर रखी जा रही है। यहां तक कि जिले में एक दर्जन से ज्यादा आदतन लगातार अपराध करने वाले गुंडे, बदमाशों के विरूद्ध जिला बदर का इस्तगाशा (प्रार्थना पत्र) जिला दंडाधिकारी के न्यायालय में विचारार्थ पेश किया गया है। इनमें से कई के विरूद्ध जिला दंडाधिकारी ने आदेश पारित करते हुए उन्हें 6 जिलों से बाहर जिला बदर किये जाने का आदेश भी दिया जा चुका है। वहीं कुछ संगीन बदमाशों के रिकार्ड को देखते हुए उनके विरूद्ध राष्ट्रीय सुरक्षा कानून अधिनियम के तहत कार्रवाई किये जाने के लिए उनकी सूचीबद्ध अपराधों की फाइल भी न्यायालय में पेश की गई है।

पुलिस सूत्रों से जो जानकारी छनकर आ रही है कि कोतवाली क्षेत्र में आधा दर्जन से ज्यादा संगीन अपराधों को अंजाम देने वाले गुंडे मवालियों का जिला बदर किये जाने का इश्तगासा जिला दंडाधिकारी के न्यायालय में पेश किया गया है। वहीं कटघोरा, दर्री, दीपका, कुसमुंडा, बांगो, पसान, पाली, बालको आदि थाना क्षेत्रों के लिए ऐसे ही अपराधियों की सूची तैयार कर उनका भी प्रकरण जिला बदर किये जाने का इश्तगासा न्यायालय में पेश किया गया है। इसके अलावा ऐसे असामाजिक तत्व जो चुनाव के दौरान शांति भंग कर सकते हैं उनके उपर भी सिटी मजिस्ट्रेट एवं कार्यपालिक दंडाधिकारी के न्यायालयों में प्रतिबंधात्मक कार्रवाई के तहत प्रकरण पेश किये जा रहे हैं। जिससे कि असामाजिक तत्व जिले में आदर्श आचार संहिता के तहत चुनाव कार्य संपन्न होने तक किसी भी तरह का विघ्न संतोष पैदा न कर सके।

image