Hindusthan Samachar
Banner 2 गुरुवार, अप्रैल 18, 2019 | समय 20:32 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

प्रकृति अधिकारों का संरक्षण जरूरी: चिदानन्द सरस्वती

By HindusthanSamachar | Publish Date: Apr 15 2019 4:52PM
प्रकृति अधिकारों का संरक्षण जरूरी: चिदानन्द सरस्वती
ऋषिकेश, 15 अप्रैल (हि.स.)। जिले में सोमवार को भारत इलेक्ट्राॅनिक्स लिमिटेड के विभिन्न स्थानों के 100 से अधिक अधिकारी परमार्थ निकेतन पहुंचे। इस दौरान सभी लोग गंगा आरती एवं पर्यावरण शुद्धि के लिये हवन में किया। स्वामी चिदानन्द सरस्वती ने कहा कि आज देश में मेक इन इण्डिया तो हो रहा है लेकिन हम सब साथ में मिलकर कार्य करें तो मेक इण्डिया और मेक फाॅर इण्डिया प्रोग्राम भी किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि मानव के विकास के साथ प्रकृति अधिकारों के संरक्षण पर हमें ध्यान देने की आवश्यक्ता है। स्वच्छ इण्डिया, ग्रीन इण्डिया विजन के बारे में चर्चा करते हुये गंगा नन्दिनी ने कहा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के डिजिटल इण्डिया, स्वच्छ भारत, स्टैंड अप इंडिया, स्किल इण्डिया को विस्तर देने पर भी वार्ता हुई। परमार्थ निकेतन प्रतिनिधि गंगा नन्दिनी त्रिपाठी ने परमार्थ निकेतन, गंगा एक्शन परिवार और ग्लोबल इण्टर फेथ वाश एलायंस द्वारा संचालित गतिविधियों के विषय में जानकारी दी। इस दल के सदस्यों ने परमार्थ निकेतन, टाॅयलेट काॅलेज एवं योग विलेज का भ्रमण किया तथा परमार्थ प्रतिनिधियों ने अधिकारियों के साथ स्वच्छता, पर्यावरण संरक्षण, नदियों के संरक्षण, जियो ट्यूब तकनीक, पराली से प्रदूषण नियंत्रण, जैविक शौचालय जैसे अनेक विषयोें पर चर्चा की। इस अवसर एमवी गौतम, सीएमडी, भारत इलेक्ट्राॅनिक्स लिमिटेड, ने कहा कि जिस प्रकार उपकरणों व संयंत्रों को कम से कम वर्ष में एक बार रिचार्ज और रिपेयर करने की जरूरत होती है। उसी प्रकार मनुष्य को भी परमार्थ गंगा तट पर वर्ष में एक बार आकर रिचार्ज अवश्य होना चाहिये। वास्तव में यहां की आरती अद्भुत शान्ति देने वाली है। हिन्दुस्थान समाचार/विक्रम/राजेश/पवन
लोकप्रिय खबरें
फोटो और वीडियो गैलरी
image