Hindusthan Samachar
Banner 2 शुक्रवार, अप्रैल 19, 2019 | समय 04:29 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

भारत में गर्भवती महिलाओं की मृत्यु दर चिंताजनक: प्रो रविकांत

By HindusthanSamachar | Publish Date: Apr 12 2019 5:14PM
भारत में गर्भवती महिलाओं की मृत्यु दर चिंताजनक: प्रो रविकांत
-मातृत्व दिवस पर जागरूकता कार्यक्रम संपन्न ऋषिकेश, 12 अप्रैल (हि.स.) । अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान एम्स में शुक्रवार को सुरक्षित मातृत्व दिवस पर जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया। सेंटर ऑफ एक्सीलेंस फॉर नर्सिंग एजुकेशन एंड रिसर्च की गर्भवती महिलाओं के लिए जागरूकता कार्यक्रम में एम्स निदेशक पद्मश्री प्रोफेसर रविकांत ने बताया कि भारत में गर्भवती महिलाओं की मृत्यु दर दूसरे देशों से काफी अधिक है। गर्भवती महिलाओं की मृत्यु दर को नियमित हेल्थ एजुकेशन व जागरूकता कार्यक्रमों के माध्यम से कम किया जा सकता है। गर्भवती महिलाओं को नियमित जांच व सलाह के लिए अस्पताल में आना चाहिए। साथ ही कम्यूनिटी हेल्थ सेवा के माध्यम से घर-घर जाकर गर्भवती महिलाएं, जो कि हाईरिस्क प्रेग्नेंसी में आती हैं, उनकी काउंसलिंग व सुरक्षा के बारे में जागरूक किया जाना चाहिए। कई दफा प्रसव के बाद बच्चे की मां की सही देखभाल की अनदेखी की जाती है। इसके कारण से मां व बच्चे की मृत्यु हो जाती है। लिहाजा प्रसव के बाद भी दोनों की नियमित देखभाल करना नितांत आवश्यक है। इस अवसर पर डीन एकेडमिक प्रोफेसर सुरेखा किशोर व डीन नर्सिंग डॉ सुरेश कुमार शर्मा सहित कई लोग उपस्थित रहे। कार्यक्रम में परामर्श केंद्र का आयोजन किया गया। इसमें महिलाओं की प्रसव पूर्व जांच, आहार, देखभाल और व्यायाम के संबंध में महिलाओं को जानकारी दी गई। इस दौरान उन्हें नाट्य प्रस्तुति, पोस्टर, स्लोगन और कविताओं के माध्यम से भी जागरूक किया गया। बीएससी नर्सिंग की छात्राओं ने नाटक के माध्यम से सुरक्षित मातृत्व के विभिन्न पहलुओं पर प्रकाश डाला। सुरक्षित मातृत्व दिवस पर आयोजित विभिन्न प्रतियोगिताओं के परिणाम शनिवार को घोषित किए जाएंगे। हिन्दुस्थान समाचार/विक्रम/राजेश/पवन
लोकप्रिय खबरें
फोटो और वीडियो गैलरी
image