Hindusthan Samachar
Banner 2 गुरुवार, अप्रैल 18, 2019 | समय 19:51 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

सेना पर राजनीति कर रही भाजपा: टीपीएस रावत

By HindusthanSamachar | Publish Date: Apr 8 2019 3:12PM
सेना पर राजनीति कर रही भाजपा: टीपीएस रावत
देहरादून, 08 अप्रैल (हि.स.)। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व सांसद ले. जनरल (अ.प्रा.) टीपीएस रावत ने सोमवार को मोदी सरकार पर सेना के नाम पर राजनीति करने का आरोप लगाते हुए कहा कि देश की जनता को गुमराह कर लोकसभा चुनाव में भाजपा फायदा लेना चाह रही है। कांग्रेस मुख्यालय राजीव भवन में ले.जनरल (अ.प्रा.) टी.पी.एस. रावत ने कांग्रेस के वरिष्ठ प्रदेश उपाध्यक्ष सूर्यकांत धस्माना और प्रदेश प्रवक्ता ​गरिमा दसौनी ने पत्रकारों को संबोधित किया। इस मौके पर उन्होंने कहा कि भाजपा पूर्व सैनिकों को सेना को सियासी नजरिये से देख रही है। यही कारण है वन रैंक वन पेंशन (ओआरपी) स्कीम की आड़ में सैनिकों के साथ छलावा किया गया। ले. जनरल ने कहा कि देश में पहली बार ऐसा हुआ कि जब शौर्य के नाम पर हमारी सेनाओं को राजनीतिक भंवन में धकेलेने का काम किया गया। चाहे सर्जिकल स्ट्राइक हो, चाहे एयर स्ट्राइक हो, ये सिर्फ और सिर्फ फौज का शौर्य और पराक्रम है तथा इसका श्रेय भी भारतीय सेना को जाना चाहिए। इसलिए सेना की आड़ में वर्ष 2019 का लोकसभा चुनाव लड़ने का कायराना कदम उठाया गया है। टीपीएस रावत ने कहा कि कश्मीर पर सरकार अपना अति प्रचारित एजेंडा लागू करने में पूरी तरह नाकाम रही, और तो और स्पष्ट कश्मीर नीति के अभाव में वहां बेहद तनावपूर्ण हालात बनाने में योगदान दिया है। पांच साल के कार्यकाल में जो 18 आतंकी घटनाएं देश के अन्दर हुईं, इसमें पठानकोट, उरी, सोपोर, अमरनाथ, पुलवामा जैसी बड़ी घटनायें हैं, उसकी जिम्मेदारी किसकी बनती है। कश्मीर में सरकार बनाने के लिये पहले पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) के साथ गठजोड़ और फिर अपनी ही गलती छिपाने को ठीकरा पीडीपी पर डालने का षडयंत्र कश्मीर की स्थिति खराब कर चुका है। आज अगर वहां बडे आतंकी हमले हो रहे हैं तो भाजपा की राज्य सरकार की जिम्मेदारी भी तय की जाए। उन्होंने राफेल डील में सरकार ने राष्ट्रीय हितों के साथ समझौता करने का आरोप लगाते हुए कहा कि हिन्दुस्तान एरोनाॅटिक्स लिमटेड (सरकारी कारखाना) को हटाकर अपने प्रिय हवाई जहाज निर्माण के अनुभवहीन उद्योगपति को वरीयता दी। चन्द उद्योगपतियों को करोड़ों से ज्यादा का लाभ देने के लिये तो इस सरकार के पास धन है लेकिन देश की रक्षा करने वाले सैनिकों की स्वीकृत मांग को पूरा करने के लिए धन नहीं है। यह केवल उतराखण्ड ही नही पूरे देश के सैनिकों में सरकार के रवैये के प्रति आक्रोश बना हुआ है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के द्वारा मोदी की सेना कहा जाना सेना का अपमान है। हिन्दुस्थान समाचार/राजेश/पवन
लोकप्रिय खबरें
फोटो और वीडियो गैलरी
image