Hindusthan Samachar
Banner 2 गुरुवार, अप्रैल 18, 2019 | समय 20:16 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

नववर्ष पर स्वयंसेवकों ने किया पथ संचालन

By HindusthanSamachar | Publish Date: Apr 7 2019 7:17PM
नववर्ष पर स्वयंसेवकों ने किया पथ संचालन
हरिद्वार, 07 अप्रैल (हि.स.)। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) हरिद्वार द्वारा नववर्ष प्रतिपदा के अवसर पर नगर में रविवार को पथ संचालन किया। पथ संचालन में हरिद्वार नगर के सैंकड़ों स्वयंसेवक शामिल हुए। स्वयंसेवक सरस्वती विद्या मंदिर मायापुर से पथ संचलन करते हुए मुख्य शिवमूर्ति चौक, लालतारौ पुल से बिरला घाट,गुजरावाला भवन, श्रवणनाथ नगर होते हुए होते पुनः मायापुर विद्या मंदिर पहुंचे। कार्यक्रम की शुरूआत आद्य सर संघचालक को प्रणाम के साथ हुआ। कार्यक्रम के मुख्य वक्ता संघ के प्रांत प्रचार प्रमुख किसलय कुमार ने कहा कि संपूर्ण भारतवर्ष व हिंदू समाज के लिए चैत्र शुक्ल प्रतिपदा का दिन महत्वपूर्ण है। देश के भिन्न-भिन्न हिस्सों में इसी दिन नववर्ष के कार्यक्रम आयोजित होते हैं। आज ही के दिन स्वामी दयानन्द ने आर्य समाज की स्थापना की थी। चैत्र शुक्ल प्रतिपदा के अवसर पर ही डॉ बलिराम हेडगेवार का जन्म भी हुआ था। उन्होंने कहा कि भारत प्राचीन काल से ही दिशा देने वाला देश रहा है। सांस्कृतिक विरासत इसकी पहचान रही है लेकिन हजारों वर्ष की गुलामी व संघर्ष में हम अपनी सांस्कृतिक विरासत को भूल गए थे और एक जनवरी को नववर्ष मनाना शुरू कर दिए। हमें हिंदू काल गणना के आधार पर नववर्ष मनाना चाहिए, क्योंकि यह पूरी तरह वैज्ञानिक है। पूजा से लेकर शुभ कार्य हम हिंदू काल गणना के रूप में मनाते हैं, तो फिर नववर्ष भी इस काल गणना के रूप में मनाना चाहिए। किसलय ने कहा कि संघ की स्थापना करने एवं हिन्दू समाज को संगठित करने के पीछे डॉ. हेडगेवार की कितनी दूर दृष्टि रही थी, कभी किसी ने कल्पना भी नहीं की होगी। आज उसी त्याग-तपस्या का परिणाम है कि स्थापना के 94 वर्ष पूरे होने के बाद संघ विशाल वटवृक्ष के रूप में खड़ा है। उन्होने भारत को पुनः विश्वगुरू बनाने के लिए लोकतंत्र के महापर्व में अपनी भूमिका निभाने की अपील की गई। हिन्दुस्थान समाचार/रजनीकांत/अमर/पवन
लोकप्रिय खबरें
फोटो और वीडियो गैलरी
image