Hindusthan Samachar
Banner 2 गुरुवार, अप्रैल 18, 2019 | समय 20:55 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

हिन्दी नववर्ष राष्ट्रीय स्वाभिमान का प्रतीक : देवेन्द्र

By HindusthanSamachar | Publish Date: Apr 7 2019 4:07PM
हिन्दी नववर्ष राष्ट्रीय स्वाभिमान का प्रतीक : देवेन्द्र
-आरएसएस ने पूर्ण गणवेश में मनाया वर्ष प्रतिपदा उत्सव देहरादून, 07 अप्रैल (हि.स.)। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) महानगर ने चैत्र शुक्ल वर्ष प्रतिपदा को उत्साह पूर्वक मनाया गया। कार्यक्रम में आरएसएस के सभी स्वयंसेवकों ने सर्व प्रथम आद्य सर संघचालक को प्रणाम किया। इस अवसर पर संघ के स्वयंसेवक पूर्ण गणवेश में उपस्थित रहे,यह देखते ही बन रहा था। रविवार को राजधानी स्थित एमकेपी परिसर में महानगर स्वयंसेवकों द्वारा वर्ष प्रतिपदा उत्सव मनाया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता महानगर संघचालक आजाद सिंह रावत ने की। वहीं कार्यक्रम में मुख्य वक्ता उत्तरांचल प्रांत के सह प्रांत प्रचारक देवेन्द्र ने चैत्र शुक्ल प्रतिपदा को भारतीय नववर्ष और संघ ने छह उत्सवों की महत्ता पर विस्तार से प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि इस हिन्दी नववर्ष के बसंत ऋतु में प्रकृति की जो नवीनता प्रत्यक्ष दिखाई पड़ती है, वह अंग्रेजी नववर्ष के एक जनवरी को नहीं देखने को मिलती। उन्होंने अपने बौद्धिक के दौरान हिन्दी नववर्ष को राष्ट्रीय स्वाभिमान का प्रतीक बताया। सह प्रांत प्रचारक देवेन्द्र ने संघ के संस्थापक डा. केशव राव बलिराम हेडगेवार के व्यक्तित्व एवं कृतित्व पर प्रकाश डालते हुए कहा कि उनका सारा जीवन ही मां भारती के लिए समर्पित था। उन्होंने हेडगेवार के बचपन से ही राष्ट्रभक्ति से परिपूर्ण होने एवं आज़ादी में उनके योगदान के प्रसंगों को बताया। संघ 94 वर्षों की यात्रा के बाद आज जिस स्थान पर खड़ा है, वह डॉक्टर हेडगेवार की दूरदृष्टि का ही परिणाम है। जैसे-जैसे संघ का विस्तार हुआ है, चुनौतियां भी उसी प्रकार बढ़ी हैं। उन चुनौतियों का सामना करने के लिए संकल्प लेने का अवसर है।आज सभी को उनके जीवन के आदर्शों को आत्मासात कर उनके बताये व दिखाए सिद्धांतों पर चलने की आवश्यकता है। उन्होंने जातिवाद ,क्षेत्रवाद भाषावाद से दूर रहकर राष्ट्र की उन्नति के लिए समरस भाव से समस्त समाज को साथ लेकर राष्ट्रविरोधी गतिविधियों का सामना करने के लिए संकल्प लेने का आह्वान किया। इस अवसर पर संघ एवं विभिन्न क्षेत्रों में कार्य करने वाले अनेकों स्वयंसेवक एवं दायित्ववान कार्यकर्ता उपस्थित थे। एकल गीत भरत कुमार द्वारा प्रस्तुत किया गया। जबकि एकत्रीकरण का मुख्य शिक्षक के रूप में कुलदीप सिंह थे। इस मौके पर क्षेत्र कार्यवाह शशिकांत दीक्षित, लक्ष्मी प्रसाद जायसवाल, सुरेंद्र मित्तल, नीरज मित्तल, विभाग कार्यवाह अनिल नन्दा, विभाग प्रचारक सुनील कुमार, डॉ. जसपाल खत्री,महानगर प्रचारक विजय कुमार,कार्यवाह विशाल जिंदल,सह कार्यवाह महेंद्र कुमार, शिवकुमार सैनी, प्रवीन जैन, सत्येंद्र कुमार,अरुण कुमार,प्रचार प्रमुख हिमांशु अग्रवाल आदि थे। हिन्दुस्थान समाचार/राजेश/रामानुज
लोकप्रिय खबरें
फोटो और वीडियो गैलरी
image