Hindusthan Samachar
Banner 2 शुक्रवार, अप्रैल 19, 2019 | समय 04:06 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

द्रोणनगरी में मां शैलपुत्री की आराधना के साथ चैत्र नवरात्र शुरू

By HindusthanSamachar | Publish Date: Apr 6 2019 1:53PM
द्रोणनगरी में मां शैलपुत्री की आराधना के साथ चैत्र नवरात्र शुरू
देहरादून, 06 अप्रैल (हि.स.)। द्रोणनगरी देहरादून सहित प्रदेश भर में मां दुर्गा के नौ रूपों की उपासना का पर्व चैत्र नवरात्र शनिवार को आरंभ हो गया। पहले दिन मां के प्रथम स्वरूप शैलपुत्री का आह्वान किया गया। मंदिरों में भक्तों की देर रात से ही दर्शन के लिए लग गई थी जो दोपहर तक चलती रही। देर रात से ही मंदिरों में माता के दरबार रंग बिरंगी रोशनी से सजाया गया था। शनिवार से चैत्र नवरात्र के पहले दिन मां शैलपुत्री की स्तुति के साथ मंदिरों में भी श्रद्धालुओं ने पूजा अर्चना की। ज्योतिषियों का मानना है कि इस चैत्र नवरात्र में बन रहे मंगलकारी संयोग सफलता प्रदान करने वाले होंगे। इन्हें मां के समस्त वन्य जीव जंतुओं का रक्षक माना जाता है। इनकी आराधना से आपदाओं से मुक्ति मिलती है। आज से शुरू हो हुए चैत्र नवरात्र 14 अप्रैल तक चलेंगे। द्रोणनगरी के प्राचीन टपकेश्वर महादेव मंदिर में चैत्र नवरात्र में नौ दिन तक मां दुर्गा का हर दिन विशेष शृंगार किया जाएगा। वैष्णो देवी गुफा मंदिर में महिला कीर्तन मंडली द्वारा हर दिन भजनों की सुंदर प्रस्तुति का कार्यक्रम है। वहीं किशनपुर, कैनाल रोड स्थित प्राचीन शिव मंदिर में चैत्र नवरात्र में रोजाना सैकड़ों ज्योत जलाई जाएंगी। साथ ही मंदिर में भजन संध्या का भी आयोजन किया गया। चंद्रबनी में प्राचीन गौतम कुंड मंदिर में भी चैत्र नवरात्र में माता की विशेष पूजा अर्चना की गई। पृथ्वीनाथ मंदिर में घट स्थापना के साथ ही मां का विशेष श्रृंगार किया गया। मंदिर के महंत कृष्णा गिरि महाराज ने बताया कि नवरात्र के नौ दिन तक माता का विशेष शृंगार किया जाएगा। आज सुबह मंत्रोच्चार के साथ मंदिर में ज्योत जलाई गई। दूरदराज से आने वाले श्रद्धालुओं के लिए विशेष पूजा अर्चना की जाएगी। ज्योतिषाचार्य परमानन्द ने बताया कि नवरात्र में हर कोई मां सिंहवाहिनी की भक्ति में लीन नजर आता है। उपवास और व्रत रखने वाले मंदिरों और घरों में मां की पूजा करते हैं। अनुष्ठान और साधना के लिए चैत्र नवरात्र श्रेष्ठ माने जाते हैं। चैत्र शब्द से चंद्र तिथि का बोध होता है। सूर्य मीन राशि में जाने से चैत्र मास में शुक्ल सप्तमी से दशमी तक शक्ति आराधना का विधान है। हिन्दुस्थान समाचार/राजेश/रामानुज
लोकप्रिय खबरें
फोटो और वीडियो गैलरी
image