Hindusthan Samachar
Banner 2 गुरुवार, अप्रैल 18, 2019 | समय 19:56 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

नवरात्र के प्रथम दिन देवी मंदिरों में उमड़ा श्रद्धा का सैलाब

By HindusthanSamachar | Publish Date: Apr 6 2019 1:38PM
नवरात्र के प्रथम दिन देवी मंदिरों में उमड़ा श्रद्धा का सैलाब
हरिद्वार, 06 अप्रैल (हि.स.)। शक्ति की उपासना का मुख्य पर्व नवरात्र शनिवार को उल्लास के साथ आरम्भ हुआ। कलश स्थापना के साथ नवरात्र पर्व का परायण आरम्भ हुआ। इस अवसर पर तीर्थनगरी के देवी मंदिरों में श्रद्धालुओं की भारी भीड़ रही। नवरात्र के कारण बाजारों में भी खासी रौनक है। चैत्र नवरात्र के प्रथम दिन प्रातः नौ बजे के बाद शुभ मुहुर्त में घट स्थापना के साथ नवरात्र पर्व का आरम्भ हुआ। नौ दिनों तक चलने वाले इस पर्व के पहले दिन ब्रह्मा की शक्ति मां ब्रह्मचारिणी की पूजा-अर्चना की गई। वहीं देवी मंदिरों में भी नवरात्र परायण आरम्भ हुआ। नवरात्र की पूर्व संध्या से ही देवी मंदिरों में विशेष सजावट की गई थी। देवी मंदिरों में प्रातः से ही श्रद्धालुओं की भारी भीड़ माता के दर्शनों के लिए उमड़ी। मंदिरों में माता का विशेष श्रृंगार व आरती की गई। तीर्थनगरी में सबसे अधिक भीड़ हरिद्वार की अधिष्ठात्री कही जाने वाली व 51 शक्तिपीठों में से एक माया देवी मंदिर, पौराणिक चण्डी माता मंदिर, मंशा देवी मंदिर, बाबा कामराज द्वारा स्थापित दक्षिण काली मंदिर, अंजनी देवी, मां शीतला मंदिर, सुरेश्वरी देवी, महिषासुर मर्दिनी में रही। लोगों ने घरों में भी घट स्थापना के साथ नवरात्र व्रत का आरम्भ किया। पं. देवेन्द्र शुक्ल शास्त्री ने बताया कि आज के ही दिन भगवान ब्रह्मा ने सृष्टि का सृजन किया था। देवी के नव रूपों का प्रादर्भाव भी आज ही के दिन से आरम्भ हुआ था। इस कारण नवरात्र की विशेष महत्ता है। कहा कि नवरात्र शक्ति की उपासना का श्रेष्ठ काल होता है। इन दिनों शक्ति उपासना से सभी कामनाओं की पूर्ति होती है। नवरात्र के प्रथम दिन जहां मंदिरों में भारी भीड़ रही वहीं बाजारों में भी रौनक देखने को मिली। फलों और फूलों के दामों में भी उछाल रहा। हिन्दुस्थान समाचार/रजनीकांत/अमर/रामानुज
लोकप्रिय खबरें
फोटो और वीडियो गैलरी
image