Hindusthan Samachar
Banner 2 मंगलवार, अप्रैल 23, 2019 | समय 06:11 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

महिलाओं में जन्मजात नेतृत्व के गुण होते हैं : राज्यपाल मौर्य

By HindusthanSamachar | Publish Date: Apr 5 2019 6:58PM
महिलाओं में जन्मजात नेतृत्व के गुण होते हैं : राज्यपाल मौर्य
देहरादून, 05 अप्रैल (हि.स.)। उत्तराखण्ड की राज्यपाल बेबी रानी मौर्य ने शुक्रवार को राजभवन में यूनिवर्सिटी ऑफ पेट्रोलियम एण्ड एनर्जी स्टडीज द्वारा आयोजित ‘शक्ति’ कार्यक्रम में सभी महिला प्रतिभागियों से मुलाकात की। इस अवसर पर राज्यपाल मौर्य ने कहा कि महिलाओं को डिसीजन मेकिंग प्रणाली में बराबरी का अधिकार मिलना चाहिये। महिलाओं में जन्मजात नेतृत्व गुण होते हैं। प्रत्येक संस्थान को उन्हें बढ़ावा देना चाहिये। ‘शक्ति’ कार्यक्रम यूनिवर्सिटी की महिला शिक्षकों और कार्मिकों में ‘लीडरशिप स्किल’ विकसित करने और उन्हें प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से चलाया गया। महिला प्रतिभागियों से बात करते हुए राज्यपाल बेबी रानी मौर्य ने कहा कि महिलाओं को अपनी शक्ति और सामर्थ से कभी समझौता नहीं करना चाहिए। यदि आप कोई सही निर्णय लेती हैं तो उस पर अडिग रहिए। अपने व्यवहार और कर्म पर विश्वास रखिये। यही जीवन का मूल मंत्र है। सदैव सामंजस्य बनाए रखें राज्यपाल ने लैंगिक विषमता दूर करने की आवश्यकता पर बल देते हुए कहा कि लड़कियों को पढ़ाना चाहिये, उन्हें पढ़ाई, खेलने और निर्णय लेने की पूरी आजादी देनी चाहिये। एक प्रश्न के उत्तर में राज्यपाल मौर्य ने कहा कि महिलाएं सफलता की किसी भी मंजिल पर पहुंच जाएं, उन्हें अपने परिवार और बच्चों के साथ सदैव सामंजस्य बनाकर रखना चाहिये। अहंकार को कभी अपने उपर हावी न होने दें और परिवार के सहयोग और सलाह को महत्व दें। एक प्रतिभागी के प्रश्न के उत्तर में राज्यपाल ने कहा कि किसी कार्य को छोटा नहीं समझना चाहिये। जन सेवा ही हमारी मूल भावना होनी चाहिये। राज्यपाल ने संयुक्त परिवारों के महत्व पर भी अपने विचार रखे। उन्होंने कहा कि अपने लक्ष्य निर्धारित करें और उन्हें पाने के लिए पूरी शक्ति लगा दें। जीवन में अपने संस्कार और मूल्यों का साथ कभी नहीं छोड़ना चाहिये। कार्यक्रम में कई महिला प्रतिभागियों ने राज्यपाल से उनके जीवन अनुभवों, उनके राज्यपाल बनने तक के सफर के बारे में प्रश्न पूछे और अपने विचार भी साझा किये। इस अवसर पर राज्यपाल के सचिव रमेश कुमार सुधांशु, यूपीईएस के चेयरमैन शरद मेहरा, निदेशक अरुण ढ़ांड सहित बड़ी संख्या में प्रतिभागी महिलाएं उपस्थित रहीं। हिन्दुस्थान समाचार/राजेश/पवन
लोकप्रिय खबरें
फोटो और वीडियो गैलरी
image