Hindusthan Samachar
Banner 2 रविवार, अप्रैल 21, 2019 | समय 00:37 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

‘मोदी अथक है, मोदी शतक है’ पु​स्तक का लोकार्पण

By HindusthanSamachar | Publish Date: Apr 4 2019 3:01PM
‘मोदी अथक है, मोदी शतक है’ पु​स्तक का लोकार्पण
देहरादून, 04 अप्रैल (हि.स.)। साहित्य समाज का दर्पण है। साहित्य और समाज को एक दूसरे का पूरक कहा जा सकता है। यही कारण है कि समाज में घटने वाली हर व्यवस्था साहित्य का अंग बन जाती है। इसी का प्रमाण है ‘मोदी अथक , मोदी शतक है’ नामक एक कृति जो प्रधानमंत्री मोदी के पांच सालों के कार्यकाल का काव्यमय लेखा है। यह कृति राधा कृष्ण पंत प्रयासी द्वारा लिखी गई है और विनसर पब्लिकेशन कंपनी से प्रकाशित है। इस कृति का लोकार्पण भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष नरेश बंसल, प्रदेश उपाध्यक्ष ज्योति प्रसाद गैरोला, प्रदेश प्रवक्ता वीरेन्द्र सिंह बिष्ट, मीडिया प्रभारी देवेन्द्र भसीन, अजेन्द्र अजय समेतअन्य विशिष्ठ जनों ने किया। गुरुवार को भाजपा प्रदेश कार्यालय में इस कृति का लोकार्पण हुआ। कृतिकार राधा कृष्ण दिल्ली पुलिस में 40 वर्षों तक कार्यरत रहे हैं। वे 2004 में तत्कालीन राष्ट्रपति डाॅ. एपीजे अब्बुल कलाम की जीवनी भी काव्य में रूप में लिख चुके हैं। कई काव्य कृतियों के कृतिककार राधाकृष्ण मानते हैं कि उन्होंने अपने जीवन काल में 12 प्रधानमंत्रियों को देखा है, लेकिन मोदी जी ऐसे पहले प्रधानमंत्री दिखे है जो पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की तरह सदैव समाज को समर्पित रहते हैं। उनके कार्य और व्यवहार उन्हें इतना प्रभावित कर रहे हैं कि उन्होंने उनके जीवनवृत्ति पर कलम चला दी। मूलतः साहित्यकार प्रवृत्ति के राधाकृष्ण ने सेवानिवृत्ति के बाद अपनी काव्य विधा का आगे बढ़ाया। उनका कहना है कि उन्होंने पीएम मोदी के पांच वर्ष के कार्यों को काव्य माला में पिरोने का काम किया है। मोदी अथक, मोदी शतक की पाण्डुलिपी उन्होंने प्रधानमंत्री कार्यालय को भी भेजी थीं। प्रधानमंत्री के कार्यालय से उन्हें शुभकामना भी मिली और इसे उन्होंने प्रकाशित करने का निर्णय लिया। यह कृति लोगों के लिए उपयोगी होगी। भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष नरेश बंसल ने कृतिकार को बधाई दी और कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जैसे व्यक्ति पर कविता लिखना काफी कठिन कार्य है, लेकिन राधाकृष्ण पंत प्रयासी ने यह कार्य किया है। कृति के पन्ने पलटने से ही लगता है कि यह वास्तव में ऐसी कृति है, जिसे श्रेष्ठ माना जा सकता है। यह कृति प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के बारे में लोगों को जागरूक करेगी तथा कृतिकार की भावनाएं इससे स्थापित होती हैं। उन्होंने कृतिकार को इसके लिए बधाई दी। हिन्दुस्थान समाचार/ साकेती/अमर/रामानुज
लोकप्रिय खबरें
फोटो और वीडियो गैलरी
image