Hindusthan Samachar
Banner 2 बुधवार, नवम्बर 21, 2018 | समय 13:18 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

धनतेरस से दीपावली पर्व का आगाज

By HindusthanSamachar | Publish Date: Nov 5 2018 5:12PM
धनतेरस से दीपावली पर्व का आगाज
बरसा धन, बाजारों में खूब रही रौनक, इलेट्रानिक उत्पाद व सोने चांदी की हुई जमकर खरीद फरोख्त जोधपुर, 05 नवम्‍बर (हि.स.)। पांच दिवसीय दीपोत्सव सोमवार को धनतेरस के साथ शुरू हो गया। धनतेरस को लेकर शहर के सभी बाजारों को दुल्हन की तरह सजाया गया है। व्यापारियों को उम्मीद है कि इस बार धनतेरस पर बुध पुष्य नक्षत्र के मुकाबले दुगुनी बिक्री होगी। पांच दिवसीय दीपोत्सव के प्रथम दिन आज धनतेरस धूमधाम एवं श्रद्धापूर्वक मनाई जा रही है। हालांकि बाजारों में सवेरे के वक्त ग्राहकों भीड़ कुछ कम दिखाई दी। बाद में शहरवासी धीरे धीरे खरीदारी में जुटने लगे। धनतेरस को शुभ मानते हुए भारी संख्या में लोगों ने दुपहिया, चार पहिया वाहन खरीदने की तैयारी की है। करीब 9 से 10 हजार दुपहिया वाहनों और 200 से ज्यादा कारों की अग्रिम बुकिंग हो चुकी है। एक अनुमान के अनुसार आज से शहर की सडक़ों पर 10 हजार से अधिक नए दुपहिया और चार पहिया वाहन उतरेंगे। वहीं तकरीबन एक हजार परिवार नया आशियाना ढूंढ़ सकते है। इलेक्ट्रॉनिक्स सेक्टर में बूम: ज्वैलरी और इलेक्ट्रॉनिक्स में ही करीब दो सौ करोड़ से ज्यादा कारोबार की उम्मीद है। वहीं रेडिमेड, फर्नीचर, घर की सजावट, मेवा-मिष्ठान में भी बेहतर व्यवसाय की उम्मीद है। यही कारण है कि बड़े से लेकर छोटे व्यवसायी भी इस बड़े त्योहार को लेकर खासे उत्साहित हैं। बाजार में सबसे अधिक पूछताछ हो रही है, इलेक्ट्रॉनिक उत्पादों, सोने-चांदी के आभूषणों के साथ नए-नए किस्म के बर्तनों को लेकर। बाजार में लोग पुराने बर्तन देकर भी नए बर्तन ले रहे है। प्रेशर कूकरों के अलावा मिक्सियों पर भी एक्सचेंज ऑफर दिए जा रहे है। जहां पर कंपनियों ने ये ऑफर नहीं दिए है, वहां दुकानदारों ने अपनी ओर से इस तरह के ऑफर दिए है। रूप चौदस कल मनेगी: दीपोत्सव के दूसरे दिन कल मंगलवार को रूप चौदस मनाई जाएगी। बुधवार को धन की देवी लक्ष्मी माता के पूजन का दिवाली पर्व मनाया जाएगा। गुरुवार को अन्नकूट महोत्सव मनाया जाएगा। शुक्रवार को भैया दूज के साथ पांच दिवसीय दीपोत्सव संपन्न होगा। खरीदारी के श्रेष्ठ मुहूर्त : शहर के प्रमुख ज्योतिषियों के अनुसार धनतेरस को खरीदारी के लिए वैसे तो पूरा दिन ही शुभ है। सोमवार सुबह 6.53 से 8.15 बजे तक अमृत चौघडिय़ा, सुबह 9 .36 से सुबह 11 बजे तक शुभ, सुबह 11.59 से दोपहर 12.43 तक अभिजीत मुहूर्त में खरीदारी के साथ कुबेर पूजन किया जा सकता है। दोपहर 3.06 से 5.44 बजे तक लाभ व अमृत वेला तथा शाम 6.28 से 8.24 बजे तक स्थिर वृषभ लग्न में भी कुबेर पूजन व सभी तरह की खरीदारी करना उत्तम है। दोपहर 1.48 से 3.06 बजे तक चर चौघडिय़ा में भी खरीदारी की जा सकती है। भगवान धनवंतरी की पूजा: आज शहर के कई प्रतिष्ठानों में व्यापारियों ने धनवंतरी देवता की पूजा पाठ की। इस अवसर पर दवात व कलम का विशेष पूजन विद्वजन की देखरेख में पूजन किया गया। भगवान धनवंरी की आज के दिन विशेष पूजा अर्चना की जाती है। हिन्दुस्थान समाचार/ सतीश
image