Hindusthan Samachar
Banner 2 बुधवार, नवम्बर 21, 2018 | समय 13:00 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

सर्वे व सट्टे से लोकतंत्र में उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला नहीं कर सकते

By HindusthanSamachar | Publish Date: Nov 4 2018 7:22PM
सर्वे व सट्टे से लोकतंत्र में उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला नहीं कर सकते
चित्तौडग़ढ़, 04 नवम्बर (हि.स.)। प्रदेश में विधानसभा चुनाव को लेकर भाजपा के खिलाफ कई सर्वे आ रहे हैं। सर्वे गुजरात व कर्नाटक चुनाव के समय पर भी आए थे। त्रिपूरा में एक प्रतिशत ने 47 प्रतिशत मत प्राप्त करने वाली पार्टी के साथ सरकार बनाई है। सर्वे व सट्टे से लोकतंत्र में प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला नहीं कर सकते। राजस्थान में भी सर्वे ऐसे समय में आएं है जबकि प्रत्याशी भी तय नहीं हुए हैं। अभी मतदान में काफी समय है। प्रत्याशियों के बाद पार्टी के प्रचार झोंक कर चुनाव में जीत हासिल करेगी। यह बात भाजपा की प्रदेश चुनाव समिति के सह संयोजक सतीश पूनियां ने रविवार को चित्तौडग़ढ़ में पत्रकारों से बातचीत में कही। वे यहां बूथ महासम्पर्क अभियान के फिडबेक व टिकट वितरण में रायशुमारी को लेकर आए थे। उन्होंने कहा कि अभी तो कुछ प्रमुख नेताओं व पार्टी के लोगों से चर्चा करने व बूथ महासम्पर्क अभियान की समिक्षा के लिए आए हैं। यह पार्टी का बहुत ही महत्वपूर्ण अभियान है। प्रदेश के 51 हजार बूथों तक पहुंचने का प्रयास किया है। इस कार्यक्रम से पार्टी के कार्यकर्ताओं में भी उत्साह देखने को मिला है। इस दौरान घर-घर पत्रक बांटे गए हैं, जिसमें राज्य व केन्द्र सरकार की उपलब्ध्यिों की जानकारी है। पूनियां ने पार्टी के आगामी कार्यक्रमों की जानकारी देते हुए कहा कि पार्टी की विचारधारा रखने वाले संगठनों से पूरे प्रदेश में कार्यक्रम चला कर मिला जाएगा। प्रदेश में 8 से 8 नवम्बर तक ऐसे संगठनों से मिलेंगे। वहीं 8 से 11 नवम्बर तक प्रबुद्ध नागरिक सम्मेलन का आयोजन नगर परिषद क्षेत्रों में होगा। मेरा परिवार भाजपा का परिवार भी अभियान चलाया जाएगा। इसमें भाजपा के कार्यकर्ता अपने घरों पर झंडे व स्टीकर लगाएंगे। उन्होंने कहा कि नए मतदाताओं को प्रभावित कर पार्टी से जोडऩे के लिए 21 व 22 नवम्बर को युवा टॉउन हॉल कार्यक्रम होगा। युवाओं को इसमें पार्टी की नीतियों व सरकार की उपलब्धियों के बारे में बता कर जोड़ा जाएगा। उन्होंने बताया कि 30 नवम्बर को कमल दिया अभियान चलाया जाएगा। इस अभियान के तहत सरकार की योजनाओं से लाभान्वित लाभार्थी के घर के बाहर पार्टी का झंडा लगा कर दीपक जलाया जाएगा। चुनावों को लेकर आगामी कार्यक्रमों की समिक्षा भी की जा रही है। पूनियां ने कहा कि पार्टी चुनाव के लिए पूरी तरह तैयार है। लगातार दो वर्षों से पार्टी के कार्यक्रम जारी है। ऐसे में हमने लोकसभा चुनावों तक की तैयारी की हुई है। सरकार की उपलब्धियों व कार्यक्रमों से कार्यकर्ताओं का मनोबल बढ़ा है। संसाधन है, युवा कार्यकर्ताओं की लम्बी फौज है, जिससे हम यह धारणा तोडऩे में सफल होंगे कि प्रदेश में एक बार कांग्रेस व एक बार भाजपा की सरकार बनेगी। उन्होंने कहा कि भाजपा के राज में काम हुए हैं। लोगों में पैठ बनाई है। आदिवासी क्षेत्रों में सड़कों का जाल बिछा है। अलग-अलग क्षेत्र में अलग-अलग काम हुए हैं। टिकट कटना व बंटना परम्परा टिकट कटने के सवाल पर पूनियां ने कहा कि चुनावों में टिकट कटना व बंटना एक परम्परा है। हमारे लिए मुख्य मुद्दा समिक्षा का है। जितने योग्य व्यक्ति से मिलना व सही का चुनाव करना है, जो पार्टी को जीत दिलाए। कटेंगे या बंटेंगे यह बाद में पता चलेगा। दीपावली से पहले टिकट वितरण नहीं होगा। लाभाथियों को कराएंगे एहसास पूनियां ने एक सवाल के जवाब एवं कांग्रेस के आरोपों पर जवाब देते हुए कहा कि कांग्रेस ने देश पर 47 साल राज किया है और इनके आरोप में दम नहीं है। गत सात जुलाई को पीएम की रैली हुई थी, जिसमें प्रदेश से बड़ी संख्या में कार्यकता आए। इसी से स्पष्ट हो गया कि प्रदेश में भाजपा कि सरकार बन रही है। भाजपा ने लोगों के जीवन को बदला है। प्रदेश में करीब साढ़े 4 करोड़ मतदाता है। इसमें से 2 करोड़ लाभार्थी है, प्रयास है कि इन्हें वोट में बदला जाए। लाभार्थियों तक पहुंच रहे हैं, जिससे उन्हें एहसास कराएं कि भाजपा की योजनाओं से उनका जीवन बदला है। जो काम हमने किया उसके आधार पर लोगों को सकारात्मक रूप से जोड़ रहे हैं। इसमें कोई गलग नहीं है। अच्छे काम को लेकर मार्केटिंग है। हिंदुस्थान समाचार/अखिल/ ईश्वर
image