Hindusthan Samachar
Banner 2 बुधवार, नवम्बर 21, 2018 | समय 13:41 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

पेयजल से लेकर जिला बनाने तक के मुद्दे बने रहेंगे हावी

By HindusthanSamachar | Publish Date: Nov 4 2018 6:17PM
पेयजल से लेकर जिला बनाने तक के मुद्दे बने रहेंगे हावी
जोधपुर, 04 नवम्‍बर (हि.स.)। इस बार चुनावी मुद्दों की बात करें तो जोधपुर संभाग में भाजपा सरकार में जोधपुर की उपेक्षा होना, फलोदी को जिला बनाना व सामराऊ प्रकरण शामिल है। वंही पाली की बात करे तो प्रदूषण और पेयजल संकट अहम मुद्दे हैं। सिरोही में नर्मदा नहर का पानी जिलेवासियों को उपलब्ध कराने को लेकर पिछले चुनाव में भाजपा ने घोषणा की थी। जो अब तक पूरी नहीं हुई। जालोर में रेल सेवा और आरओबी का मुद्दा शामिल ही। बाड़मेर में रिफाइनरी के अलावा विकास का कोई बड़ा मुद्दा नहीं, इसे दोनों दल अपने-अपने तरीके से भुनाने में लगे हैं। जैसलमेर में नहरी पानी की कमी और बारानी भूमि का आवंटन बड़ा मुद्दा है। गौरतलब है कि जोधपुर संभाग में कुल मिलाकर 33 विधानसभा सीटें हैं जिनमें पिछले चुनाव में भाजपा को 33 में से 30 सीटें मोदी लहर के चलते मिल पाई थी, इस बार जोधपुर संभाग के मतदाताओं का मूड हर बार की तरह बदलाव का है और कुछ क्षेत्रों में विकास नहीं होने के अलावा स्थानीय मुद्दों के साथ साथ जातिगत प्रभाव अलग-अलग पार्टियों के नेताओं के रहने के कारण कांग्रेस की सरकार बनाने का मूड लग रहा है। जोधपुर संभाग में कुल 6 जिले हैं जिनमें 33 विधानसभा सीटें हैं। इस बार भी चर्चाएं निर्दलीय और अन्य पार्टियों द्वारा अपने प्रत्याशी मैदान में उतारने की है मगर जोधपुर संभाग में भाजपा और कांग्रेस के अलावा न तो कोई अन्य पार्टी टिक पाई है और ना ही निर्दलीय जीत का सेहरा बांध पाए हैं। हिन्दुस्थान समाचार/ सतीश/ ईश्वर
image