Hindusthan Samachar
Banner 2 गुरुवार, दिसम्बर 13, 2018 | समय 03:47 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

भाजपा मीडिया सेंटर बना भवन मालिक के लिए मुसीबत

By HindusthanSamachar | Publish Date: Nov 3 2018 9:12PM
भाजपा मीडिया सेंटर बना भवन मालिक के लिए मुसीबत
अजमेर, 03 नवम्बर(हि.स.)। अजमेर में भाजपा का चुनावी मीडिया सेंटर जिस भवन में संचालित था अब उस भवन मालिक मूंदडा परिवार के लिए मुसीबत बन गया है। शनिवार को जिला निर्वाचन अधिकारी आरती डोगरा ने अतिरिक्त कलेक्टर को उसकी जांच के आदेश दिए हैं। ज्ञात हो कि ब्राह्मण महासभा ने भवन में संचालित भाजपा मीडिया सेंटर के खिलाफ शुक्रवार को जिला निर्वाचन अधिकारी को ज्ञापन दिया था। जिला निर्वाचन अधिकारी आरती डोगरा ने शनिवार को अतिरिक्त कलेक्टर अबू सुफियान को इसकी जांच के निर्देश दिए हैं, उन्होंने भवन नगर निगम के नियमों के तहत बना है या नहीं, इसकी जांच कर रिपोर्ट तुरंत पेश की जाए। अतिरिक्त कलेक्टर सुफियान ने बताया कि शुक्रवार को ब्राह्मण महासभा द्वारा एक ज्ञापन दिया गया था। ज्ञापन में भाजपा के मीडिया सेंटर वाले भवन को अवैध बताया गया। इसलिए अब नगर निगम के आयुक्त को जांच के निर्देश दिए गए हैं। यदि चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन पाया जाता है तो मीडिया सेंटर की अनुमति को रद्द किया जाएगा। उल्लेखनीय है कि गुरुवार को ब्राह्मण महासभा के प्रतिनिधियों ने कचहरी रोड स्थित डाॅ. क्षेत्रापाल अस्पताल के पीछे खुले भाजपा के मीडिया सेंटर पर राजनीतिक विरोध प्रकट करते हुए भाजपा विधायक वासुदेव देवनानी को उदयपुर जाने का टिकिट, दो बोतल पानी की तथा दो बिस्कुट के पैकेट रखे थे। चूंकि अजमेर शहर में भाजपा का कोई अधिकृत कार्यालय नहीं है, इसलिए चुनावी मीडिया सेंटर पर ही विरोध जताया गया था, लेकिन भाजपा ने इसे चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन मानते हुए ब्राह्मण महासभा के प्रतिनिधियों के विरुद्ध पुलिस में रिपोर्ट दर्ज करवा दी। पुलिस ने महासभा के चार प्रतिनिधियों को शांति भंग के आरोप में शुक्रवार देर रात गिरफ्तार कर लिया था। भाजपा की इस कार्यवाही से खफा होकर ही ब्राह्मण महासभा ने जिला निर्वाचन अधिकारी को ज्ञापन दिया। इसी ज्ञापन में भाजपा के मीडिया सेंटर वाले भवन को ही अवैध बताया गया। ज्ञापन में कहा गया कि भवन को अवैध मानते हुए निगम ने पूर्व में नोटिस भी जारी किया था। भाजपा का मीडिया सेंटर इसलिए खोला गया, ताकि नगर निगम की कार्यवाही से बचा जा सके। निगम ने आवासीय नक्शा स्वीकृत है, लेकिन वर्तमान में इस भवन का उपयोग काॅमर्शियल काॅम्प्लेक्स के रूप में किया जा रहा है। पुलिस ने महासभा के प्रतिनिधियों के खिलाफ जो कार्यवाही की है, उससे ब्राह्मण समुदाय में भाजपा के प्रति नाराजगी बढ़ी है। हिन्दुस्थान समाचार/संतोष/ ईश्वर
image