Hindusthan Samachar
Banner 2 बुधवार, नवम्बर 21, 2018 | समय 13:00 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

भाजपा को सत्ता में आने से रोकना एसडीपीआई की पहली प्राथमिकता

By HindusthanSamachar | Publish Date: Nov 1 2018 9:11PM
भाजपा को सत्ता में आने से रोकना एसडीपीआई की पहली प्राथमिकता
भीलवाड़ा, 01 नवम्बर (हि.स.)। सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी आफ इंडिया( एसडीपीआई ) के राष्ट्रीय अध्यक्ष एमके फैजी ने कहा है की केंद्र सरकार राम मंदिर के मामले में सुप्रीम कोर्ट को डिक्टेट करना चाहती है। वह 31 दिसंबर के पहले मंदिर मस्जिद मुद्दे पर अपना फैसला दे दे ताकि आगामी चुनाव वह हिंदुत्व के मुद्दे पर लड़कर अपनी सत्ता निर्धारित कर सके। एसडीपीआई इसका विरोध करेगी और उसका प्रयास रहेगा की ऐसे लोग किसी भी हालात में जीत कर दुबारा नहीं आये। इसके लिए एसडीपीआई प्रदेश के विधानसभा चुनाव में भी खुलकर भाग लेगी। फैजी गुरुवार को भीलवाड़ा में मीट दी प्रेसिडेंट कार्यक्रम के बाद पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। फैजी ने कहा की देश में भाजपा को सत्ता में आने से रोकना एसडीपीआई की पहली प्राथमिकता है, तथा देश में आरएसएस से मुकाबला करने के लिए वैकल्पिक आइडियल पार्टी के रूप में हम तैयार है। उन्होंने कहा की पार्टी राजस्थान के विधानसभा चुनाव में अपनी सक्रिय भूमिका निभा रही है तथा सत्ताईस विधानसभा सीटों पर अपने प्रत्याशी खड़े कर रही है। भीलवाड़ा विधानसभा के लिए अब्दुल सलाम अंसारी को पार्टी ने अपना प्रत्याशी घोषित किया है। पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव मोहम्मद शफी ने कहा की सरकार देश में नफरत और खौफ के आइकॉन बना रही है। साठ प्रतिशत बीपीएल वाले देश में तीन हजार करोड़ की मूर्ति बनाकर तमाशा खड़ा किया जा रहा है। बाबरी मस्जिद -राम मंदिर का मुद्दा 1949 से चल रहा है पर जब 2018 में यह मामला सुप्रीम कोर्ट में आया तो अचानक हिन्दू के सब्र का पैमाना लबरेज हो गया है। उन्होंने कहा की देश के इतिहास में पहली बार किसी सरकार ने डेमोक्रेटिक सिस्टम पर ही सवाल खड़े कर दिए है। सीबीआई, आरबीआई और एनआईए पर सरकार दोषारोपण कर रही है इससे इन संस्थाओं की साख खत्म हो गयी है। शफी ने कांग्रेस पर आक्रमण करते हुए कहा की वह अब सेक्युलर नहीं रही है उसने हिंदुत्व का एजेंडा मान लिया है। उसके राष्ट्रीय अध्यक्ष मंदिरों में घूम रहे है और सत्ता में आने पर राम मंदिर बनाने की बात कह रहे है। इसलिए अब एसडीपीआई ही एक मात्र पार्टी बची है जो देश में सेक्युलर मूल्यों को बचाने का प्रयास कर रही है। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष रिजवान खान ने कहा की दलित उत्पीड़न और मोब लिंचिंग के मामले में उनकी पार्टी ने प्रदेश में सबसे ज्यादा काम किया है तथा किसानों को आत्महत्या करने से रोकने और उनसे जुड़े मुद्दों को प्राथमिकता से उठाकर पार्टी ने प्रदेश जनता को न्याय दिलाने के गंभीर प्रयास किये है और इस बार प्रदेश में सत्ता बनाने में उनकी पार्टी की महत्वपूर्ण भागीदारी होगी। इस मौके पर पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष आर पी पंडया, राष्ट्रीय महासचिव अब्दुल मजीद,राष्ट्रीय सचिव सीताराम खोईवाल, यास्मीन फारुखी ,डा. तस्लीम रहमानी तथा वीमेन इण्डिया मूवमेंट की राष्ट्रीय अध्यक्ष मेहरुनिशा खान ने शिरकत की। हिन्दुस्थान समाचार/मूलचन्द/ ईश्वर
image