Hindusthan Samachar
Banner 2 सोमवार, नवम्बर 19, 2018 | समय 10:12 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

कांग्रेस स्क्रीनिंग कमेटी की बैठक में भी ''मी टू'' का भूत!

By HindusthanSamachar | Publish Date: Oct 30 2018 4:37PM
कांग्रेस स्क्रीनिंग कमेटी की बैठक में भी 'मी टू' का भूत!

राजीव

बीकानेर। राजस्थान में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए दिए जाने वाले टिकटों की पात्रता को लेकर कांग्रेस सख्त होती जा रही है। दिल्ली में चल रही स्क्रीनिंग कमेटी की बैठक में मंगलवार को इस सख्ती पर पालेबन्दी हो चुकी है। कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष सचिन पायलट द्वारा आपराधिक पृष्ठभूमि के लोगों को टिकट नहीं दिए जाने की घोषणा के बाद एक बारगी स्क्रीनिंग कमेटी की बैठक में तनातनी की स्थिति बनने की खबरें हैं।

इस बात को नीतिगत स्वरूप देने से कुछ कांग्रेसी नेता खफा हैं, जिनमें से जिले के एक विधायक विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष रामेश्वर डूडी भी शामिल बताए जा रहे हैं। पता चला है कि इस कि वज़ह 'मी टू' का भूत है। दुष्कर्म जैसे मामलों में लिप्त लोगों को तो सख्ती से टिकट की दौड़ से बाहर कर दिया गया है। इससे पहले दो बार एक ही विधानसभा क्षेत्र से हारे हुए प्रत्याशी को भी टिकट नहीं दिए जाने की नीति से भी बहुत सारे प्रत्याशियों पर तलवार लटकी है। कांग्रेस के दो पूर्व प्रदेशाध्यक्ष डॉ बी.डी.कल्ला और डॉ चंद्रभान की टिकट खतरे में है।

इस बीच अगर आपराधिक पृष्ठभूमि के नेताओं को टिकट नहीं दिए जाने के विचार को नीतिगत बना दिया जाता है तो संभव है कि कांग्रेस के पास जिताऊ प्रत्याशियों की ही कमी आ जाए। इससे घबराए कांग्रेस के नेता स्क्रीनिंग कमेटी की बैठक में नियमों को लचीला बनाने का आग्रह कर रहे हैं, लेकिन सचिन पायलट के इस पर एडामेन्ट होने की वजह से माहौल गरमा चुका है। स्क्रीनिंग कमेटी का आज तीसरा दिन है, लेकिन बहुत सारी सीटों पर अभी भी असमंजस की स्थिति बनी हुई है। देखना यह है कि इतनी सख्त हो रही टीम सचिन की एडामेंसी का आधार क्या है। इस पूरे परिदृश्य में पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की चुप्पी रहस्यमयी होती जा रही है।

image