Hindusthan Samachar
Banner 2 सोमवार, नवम्बर 19, 2018 | समय 08:59 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

राजस्थान चुनाव: दीवाली पर दिलों में दिया जलायेंगे सियासी दल

By HindusthanSamachar | Publish Date: Nov 4 2018 3:58PM
राजस्थान चुनाव: दीवाली पर दिलों में दिया जलायेंगे सियासी दल

पीएन द्विवेदी

जयपुर,। राजस्थान में इस वर्ष दीवाली के त्यौहार पर चुनावी पटाखे फूटेंगे। सियासी दल दीपपर्व के बहाने लोगों के दिलों में दिया जलाने का प्रयास करेंगे। राज्य की सत्तारुढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने तो इसके लिए बाकायदा आधिकारिक कार्यक्रम भी घोषित कर दिया है। भाजपा ने दीपावली के अवसर पर पांच से आठ नवम्बर तक कार्यकर्ता परिवार मिलन का कार्यक्रम रखा है। साथ ही 30 नवम्बर को पूरे प्रदेश में कमल दिया अभियान चलाने का निर्णय लिया गया है। इसके तहत पार्टी कार्यकर्ता शाम छह बजे से रात नौ बजे के बीच हर घर में एक दीपक जलायेंगे। भाजपा के प्रदेश मीडिया प्रभारी विमल कटियार ने हिन्दुस्थान समाचार को बताया कि पार्टी इस अभियान के माध्यम से जनता के दिलों में विश्वास का दिया जलाने का प्रयास करेगी। भाजपा के मीडिया सेल ने रविवार शाम को भी पार्टी के मीडिया सेंटर में दीपावली पर्व मिलन कार्यक्रम का आयोजन किया है। इस कार्यक्रम में मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे भी उपस्थित रहेंगी। राजस्थान की प्रमुख विपक्षी पार्टी कांग्रेस भी दीवाली के अवसर पर पार्टी के चुनाव अभियान को त्यौहरी रुप देने के प्रयास में हैं। हालांकि कांग्रेस संगठन ने इसके लिए किसी आधिकारिक कार्यक्रम की घोषणा नहीं की है, लेकिन अधिकतर संभावित उम्मीदवारों ने अपनी तरफ से लोगों के घर जाकर दीवाली मिलन का कार्यक्रम निर्धारित कर लिया है। कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता प्रतापसिंह खाचरियावास कहते हैं कि पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलट दीवाली के अवसर पर राजधानी जयपुर में ही रहेंगे और लोगों को दीपपर्व की शुभकामनाएं भी देंगे। सचिन पायलट ने चार दिन पहले कहा था कि राजस्थान की जनता इस साल दो बार दीवाली मनाएगी। उन्होंने कहा था कि पहली दीवाली रोशनी पर्व के रुप में सात नवम्बर को मनाई जाएगी, वहीं सात दिसंबर को भ्रष्टाचार के खिलाफ मतदान देकर राज्य की जनता दूसरी दीवाली मनाएगी। गौरतलब है कि सोमवार के दिन धनतेरस से पांच दिवसीय दीपपर्व प्रारम्भ हो रहा है। मंगलवार को नरक चतुर्दशी व हनुमान जयंती और बुधवार को दीपावली मनाई जाएगी। इसके बाद गुरुवार को गोवर्धन पूजा, अन्नकूट महोत्सव और पांचवें दिन शुक्रवार को यम द्वितीया का पर्व मनाया जाएगा। दीवाली त्यौहार के कारण ही राज्य के दोनों प्रमुख दल भाजपा और कांग्रेस ने चुनाव के लिए अभी तक उम्मीदवारों के नामों की घोषणा नहीं की है। चूंकि दोनों दलों में टिकट के दावेदारों की संख्या अधिक है। ऐसे में कोई भी पार्टी किसी भी टिकटार्थी को दीपपर्व के अवसर पर दुखी नहीं करना चाहती है। भाजपा और कांग्रेस के अलावा तीसरे मोर्चे ने भी अपने प्रत्याशियों की सूची को दीवाली तक के लिए टाल दी है। राजस्थान विधानसभा चुनाव के लिए जाट नेता हनुमान बेनीवाल के नेतृत्व में तीसरे मोर्चे का गठन किया गया है। इसमें भाजपा के बागी विधायक घनश्याम तिवाड़ी की भारत वाहिनी पार्टी, राष्ट्रीय लोकदल, समाजवादी पार्टी और वामदलों का राजस्थान लोकतांत्रिक मोर्चा भी शामिल हैं। बसपा को भी मोर्चे में शामिल करने के की कवायद चल रही है। राजस्थान विधानसभा चुनाव के लिए सात दिसंबर को एक ही चरण में मतदान होंगे। नामांकन पत्रों का दाखिला 12 नवम्बर से प्रारम्भ होगा।

image