Hindusthan Samachar
Banner 2 रविवार, नवम्बर 18, 2018 | समय 02:56 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

हत्या मामले में संत रामपाल व उसके बेटे वीरेंद्र सहित 15 दोषियों को उम्रकैद

By HindusthanSamachar | Publish Date: Oct 16 2018 7:02PM
हत्या मामले में संत रामपाल व उसके बेटे वीरेंद्र सहित 15 दोषियों को उम्रकैद
विजय
हिसार, 16 अक्टूबर (हि.स.)। हिसार के सेंट्रल जेल में अतिरिक्त जिला न्यायाधीश डीआर चालिया ने मंगलवार दोपहर साढ़े 12 बजे सतलोक आश्रम के संचालक रामपाल को चार महिलाओं व एक बच्चे की हत्या के मामले में उम्रकैद की सजा सुनाई है। अदालत ने रामपाल के साथ उसके बेटे वीरेंद्र सहित 15 दोषियों को उम्रकैद की सजा सुनाई है। इसके साथ ही सभी दोषियों को अदालत ने एक-एक लाख व पांच हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया है।
 
निर्णय आने के बाद अदालत परिसर के बाहर रामपाल के वकील एमएस नैन ने बताया कि न्यायालय में गुहार लगाई गई थी कि यह अति संवेदनशील केस नहीं है। अदालत ने मामले में दोषियों के गुनाह पर सुनवाई करते हुए धारा-302 में उम्रकैद की सजा सुनाई व एक लाख रुपये जुर्माना लगाया है। इसके साथ ही धारा-120बी में उम्रकैद की सजा व एक लाख रुपये का जुर्माना किया गया है। धारा-343 में दो साल की सजा व 5 हजार रुपये का जुर्माना लगाया है। सभी सजाएं एक साथ चलेंगी।
 
सुरक्षा के प्रबंध थे कड़े
 
सतलोक आश्रम के संचालक रामपाल को सजा मामले में जेल के बाहर सुरक्षा के कड़े प्रबंध किए गए थे। हिसार में किसी भी अप्रिय घटना से निपटने के लिए दंगारोधक वाहन एवं आरएएफ के जवान और पुलिस के आलाधिकारी मोर्चा संभाले रहे। मीडिया को भी सेंट्रल जेल परिसर से करीब 200 मीटर की दूरी पर रखा गया था। जेल परिसर के अंदर न किसी को आने दिया गया और न ही जाने दिया गया। पुलिस-प्रशासन ने रामपाल समर्थकों के हिसार में प्रवेश करने से रोकने के लिए नाकेबंदी की थी।
 
हिसार प्रशासन की ओर से हर स्थिति पर नजर रखने के लिए 30 ड्यूटी मजिस्ट्रेट लगाए गए थे। डीआईजी व आईजी से लेकर आईपीएस स्तर के 6 अधिकारी हर गतिविधि पर निगरानी बनाए हुए थे।
image