Hindusthan Samachar
Banner 2 रविवार, नवम्बर 18, 2018 | समय 03:42 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

राफेल के मुद्दे पर सड़कों पर उतरी कांग्रेस

By HindusthanSamachar | Publish Date: Oct 7 2018 6:57PM
राफेल के मुद्दे पर सड़कों पर उतरी कांग्रेस

सुशील

नई दिल्ली। कांग्रेस की दिल्ली प्रदेश इकाई ने रविवार को केंद्र की नरेन्द्र मोदी सरकार के खिलाफ राफेल डील के मुद्दे पर प्रदर्शन किया।

दिल्ली सरकार के पूर्व मंत्री डॉ. योगानन्द शास्त्री ने प्रदर्शनकारियों को संबोधित करते हुए कहा कि कांग्रेस की यूपीए सरकार में 36 राफेल जहाज 18,940 करोड़ में खरीदे जाने थे जबकि भाजपा की मोदी सरकार ने 36 राफेल जहाज प्रति जहाज 1670.70 करोड़ में खरीदने का निर्णय लेकर 36 राफेल जहाज 60,145 करोड़ रुपये में खरीदना तय किया। यह आम आदमी की समझ से बाहर है कि किस प्रकार 36 राफेल जहाज की कीमत में 4 वर्षों में 41,205 करोड़ रुपया बढ़कर अंतर आ गया।

शास्त्री ने सवाल किया कि आखिर केंद्र सरकार राफेल घोटाले की संयुक्त संसदीय समिति (जेपीसी) से जांच करवाने से क्यों भाग रही है। उन्होंने कहा कि राफेल डील में मोदी सरकार ने देश की बाहरी सुरक्षा व आंतरिक सुरक्षा को ताक पर रखकर राफेल जहाज के रखरखाव की जिम्मेदारी पब्लिक लिमिटेड कम्पनी हिन्दुस्तान एरोनॉटिकल लिमिटेड (एचएएल) की जगह अपने मित्र पूंजीपति अम्बानी की कम्पनी रिलॉयंस डिफेंस लिमिटेड को दे डाली जो कि 12 दिन पहले ही रजिस्टर्ड हुई थी। जाहिर तौर पर जिसको हवाई जहाज बनाने व उसके रख-रखाव का कोई अनुभव नहीं है।

जिला अध्यक्ष विरेन्द्र कसाना ने कहा कि राफेल डील में मोदी सरकार ने जानबूझकर पारदर्शिता नहीं रखी, क्योंकि वह अपने पूंजीपति मित्र अम्बानी को फायदा पहुंचाना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि देश की जनता को राफेल डील में हुआ घोटाला समझ आ गया है और वह आने वाले समय में भाजपा को माफ नहीं करेगी।

image