Hindusthan Samachar
Banner 2 मंगलवार, नवम्बर 13, 2018 | समय 04:18 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

गोविंदपुरा सीट पर अटका बीजेपी का गणित

By HindusthanSamachar | Publish Date: Nov 5 2018 9:24PM
गोविंदपुरा सीट पर अटका बीजेपी का गणित
भोपाल, 05 नवम्बर (हि.स.)। एमपी की राजधानी भोपाल की गोविंदपुरा सीट बीजेपी के लिए सिर दर्द बन गई है। बीजेपी ने अपनी पहली लिस्ट में गोविंदपुरा सीट से किसी भी उम्मीदवार का नाम घोषित नहीं किया है जिसके बाद यहाँ से मौजूदा विधायक और पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर ने बगावती तेवर अपना लिया है तो वही उनकी बहू कृष्णा गौर भी पार्टी के निर्णय का इंतजार कर रही है। गौर ने दो दिन पहले टिकिट न मिलने की स्थिति में निर्दलीय चुनाव लड़ने का एलान भी किया था। गोविन्दपुरा विधानसभा सीट पर पिछले 10 बार से विधायक बाबूलाल गौर पार्टी से टिकिट कटने को लेकर अपने बगावती तेवर अपनाए हुए है । गौर एमपी के सीएम भी रह चुके है और गृह मंत्री सहित कई विभागों के मंत्री भी रहे है तो वहीं उनकी बहू कृष्णा गौर भी भोपाल से महापौर रह चुकी है और वर्तमान में महिला मोर्चा में महामंत्री भी है । बीजेपी की पहली लिस्ट में गोविंदपुरा से पार्टी ने किसी भी प्रत्याशी का नाम घोषित नहीं किया है। बाबूलाल गौर यह मानकर चल रहे थे कि उनको या फिर उनकी बहू कृष्णा गौर को वहाँ से टिकिट मिल जाएगा लेकिन पार्टी संगठन की तरफ से यह संकेत मिलने के बाद कि गोविंदपुरा से बीजेपी कोई नया चेहरा उतारने वाली है इसके बाद बाबूलाल गौर और उनकी बहू ने आँखे तरेरना शुरू कर दिया है । दो दिन पहले गौर ने निर्दलीय चुनाव लड़ने की बात कही थी वही सोमवार सुबह उन्होनें अपने सुर बदल लिए गौर ने कहा कि पार्टी उन्हें ही टिकिट देगी क्योंकि पीएम नरेन्द्र मोदी कह गए है कि बाबूलाल गौर एक बार औरण... तो वहीं कृष्णा गौर ने भी सीएम शिवराज सिंह चौहान पर अपना विश्वास जताया है । वही दूसरी ओर बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह ने साफ कर दिया है कि जो बात पीएम मोदी को लेकर बाबूलाल गौर कह रहे है वह गलत है पीएम नरेन्द्र मोदी किसी से ऐसी बात नहीं कहते। राकेश सिंह ने कहा कि पार्टी को अपने सभी कार्यकर्ताओं की फिक्र है और जल्द ही बीजेपी बची हुई विधानसभा सीटों के लिए प्रत्याशियों की घोषणा करेगी । बाबूलाल गौर टिकिट को लेकर लगातार पार्टी संगठन पर दवाब बना रहे है तो वही सिवनी मालवा विधायक और अटल सरकार में केन्द्रीय मंत्री रहे सरताज सिंह भी टिकिट न मिलने से नाराज चल रहे है। यही नहीं बीजेपी की वरिष्ट नेता और पन्ना विधासभा से विधायक और मंत्री रही कुसुम महदेले भी टिकिट न मिलने से लगातार पार्टी कार्यालय और सीएम हाउस के चक्कर लगा रही है। इन तीनों नेताओं को 70 पार फॉर्मूले की वजह से सीएम शिवराज सिंह चौहान ने मंत्री मंडल से आउट कर दिया था लेकिन अमित शाह के ऐसे किसी भी फॉर्मूले से इंकार करने के बाद अब यह तीनों बुजुर्ग नेता एक बार फिर पार्टी से टिकिट की माँग कर रहे है । हिन्दुस्थान समाचार/आशीष
image