Hindusthan Samachar
Banner 2 मंगलवार, नवम्बर 20, 2018 | समय 03:52 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

टिकट मिलने के बाद शुरू हुआ रूठों को मनाने का दौर

By HindusthanSamachar | Publish Date: Nov 5 2018 1:25PM
टिकट मिलने के बाद शुरू हुआ रूठों को मनाने का दौर
इंदौर, 05 नवम्बर (हि.स.)। भाजपा-कांग्रेस हो या अन्य कोई दल, विधानसभा चुनाव में सभी दलों के नेताओं ने अपनी-अपनी दावेदारी पेश की लेकिन टिकट किसी एक को मिलना था और वह मिल गया। इसके बाद जहां उस नेता के समर्थकों ने बधाई दी, तो नेता अब दावेदारी जताने के बाद टिकट नहीं मिलने से नाराज नेताओं को मनाने में जुट गए हैं। इसके चलते अब वे उनके घर पर जाकर चर्चा भी कर रहे हैं। इसके पीछे कारण है कि कहीं रूठे हुए नेता उनका गणित न बिगाड़ दें। इंदौर विधानसभा क्षेत्र क्रमांक-3 से अश्विन जोशी के सामने जहां उनके ही परिवार के पिंटू जोशी भी दमखम से दावेदारी कर रहे थे और इसमें उनके पिता पूर्व मंत्री महेश जोशी भी लगे थे। वहीं सांवेर से एक बार फिर से टिकट पाने वाले तुलसी सिलावट के सामने भी मुश्किलें कम नहीं थी, यहां से भी कांग्रेस के स्थानीय नेता दावेदारी जता रहे थे। अब जब दोनों को टिकट मिल गया है तो वह टिकट नहीं मिलने से नाराज नेताओं को मनाने में जुट गए हैं। विधानसभा-3 से व्यापारी संगठनों को साध कर अपनी दावेदारी जता रहे शैलेष गर्ग भी टिकट की दावेदारी में थे। इस क्षेत्र में राजीव विकास केंद्र के देवेंद्र सिंह यादव अश्विन के कट्टर विरोधी रहे हैं। जोशी का खासा विरोधी होने के कारण उन्हें इस बार चुनाव जीतने के लिए खासी मशक्कत करनी होगी। चुनाव के पहले जोशी सभी को मनाने में जुटे हैं, जिससे उन्हें उनका समर्थन मिल जाए और वे एक बार फिर से विधायक बन सकें। हालांकि दावेदार भले ही यह कहते फिर रहे हों कि उन्हें पार्टी ने पहले ही कह दिया था जिसे भी टिकट मिले उसका सहयोग करना है लेकिन फिर भी पूर्व के चुनाव परिणामों को देखते हुए जोशी और तुलसी इन्हें मनाकर अपने पक्ष में करने में जुटे हैं। उधर, राऊ में जीतू पटवारी के सामने कोई दमदार दावेदार नहीं था, ऐसे में उनका टिकट पहले से ही पक्का था, तो उन्हें किसी को मनाने में अपना समय नहीं गंवाना पड़ेगा। जबकि महू से कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ने वाले अंतरसिंह दरबार को जरूर रूठों को मनाना पड़ेगा, क्योंकि यहां से लक्ष्मण ढोली और कैलाशदत्त पांडेय के अलावा अन्य ने भी अपनी दावेदारी जताई थी लेकिन दरबार ने सबको पीछे छोड़ते हुए टिकट ले उड़े। अब वे भी इन रूठे नेताओं को मनाने में जुटे हैं। जोशी 8 को, तुलसी सिलावट 9 को जमा करेंगे नामांकन टिकट मिलने के बाद कांग्रेस नेताओं का पूरा प्रयास है कि कैसे भी हो जहां से उन्हें उम्मीदवारी मिली है, वहां से चुनाव जीतना है। इसके लिए अब नामांकन फॉर्म जमा करने के पहले मुहूर्त के लिए पंडितों के पास जाने का सिलसिला शुरू हो गया है। विधानसभा तीन के प्रत्याशी अश्विन जोशी 8 नवंबर तथा सांवेर के प्रत्याशी बनाए गए तुलसी सिलावट 9 नवंबर को नामांकन दाखिल करेंगे। खंगाले जा रहे प्रत्याशियों का रिकॉर्ड इन दिनों दोनों ही पार्टियों में प्रत्याशियों की घोषणा होने के बाद उनके क्षेत्र के संबंधित थानों पर प्रत्याशी व उनके समर्थक पहुंच रहे हैं। प्रत्याशी थानों से अपने ऊपर दर्ज पुलिस प्रकरणों का लेखा-जोखा भी मांग रहे हैं। थानों से प्रत्याशियों के रिकॉर्ड खंगाले जा रहे हैं। वहीं, जिन मामलों में प्रत्याशी दोषमुक्त हुए हैं उनका रिकार्ड भी कोर्ट से लिए जाने की तैयारी हो गई है। हिन्दुस्थान समचार/घनश्याम/मुकेश/आकाश
image