Hindusthan Samachar
Banner 2 मंगलवार, नवम्बर 13, 2018 | समय 03:46 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

भाजपा ने भोपाल की पांच सीटों पर उतारे पूर्व विधायक, गौर की सीट पर सस्पेंस

By HindusthanSamachar | Publish Date: Nov 2 2018 2:57PM
भाजपा ने भोपाल की पांच सीटों पर उतारे पूर्व विधायक, गौर की सीट पर सस्पेंस
भोपाल, 02 नवम्बर (हि.स.)। मध्यप्रदेश विधानसभा चुनावों के लिए भारतीय जनता पार्टी की शुक्रवार को पहली सूची जारी हो गई है। इसमें पार्टी ने 177 सीटों पर उम्मीदवार घोषित कर दिए हैं, जिनमें भोपाल की सात सीटों में से पांच पर पिछली बार जिन लोगों ने चुनाव लड़े थे, उन्हीं को उम्मीदवार बनाया है, जबकि जिस सीट पर पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर दस बार जीतकर विधायक रहे हैं, उस पर अभी सस्पेंस बरकरार है और कांग्रेस के कब्जे वाली सीट पर भी अभी उम्मीदवार घोषित नहीं किया गया है। बता दें कि पूर्व मुख्यमंत्री एवं वरिष्ठ भाजपा नेता भोपाल की गोविन्दपुरा विधानसभा सीट से दस बार चुनाव लड़ चुके हैं और जीतकर विधायक और मुख्यमंत्री तक रह चुके हैं, लेकिन उन्हें उम्र का हवाला देकर मंत्रिमंडल से ही बाहर नहीं किया गया था, बल्कि इस बार उनका टिकट भी लगभग कटा हुआ माना जा रहा है। हालांकि, बाबूलाल गौर ने इस बार चुनाव लड़ने की इच्छा जताई थी| वह लगातार 11वीं बार चुनाव मैदान में उतरना चाहते थे, लेकिन उनकी सीट पर अभी तक संस्पेंस बरकरार है। भाजपा सूत्र बताते हैं कि गोविन्दपुरा विधानसभा सीट से अभी प्रत्याशी तय नहीं हो पाया है। इस सीट पर बाबूलाल गौर के अलावा उनकी बहू और भोपाल की पूर्व महापौर कृष्णा गौर के साथ-साथ भोपाल के महापौर आलोक शर्मा का नाम भी सामने आ रहा है। ऐसे में पार्टी पदाधिकारियों को इस सीट से उम्मीदवार का चयन करने में दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है। गोविन्दपुरा सीट से किसे टिकट मिलेगा, इसका सस्पेंस भाजपा की अगली सूची जारी होने पर ही दूर हो पाएगा, लेकिन भोपाल की अन्य छह सीटों पर भाजपा ने पुराने चेहरों को ही अपना उम्मीदवार बनाया है। जारी सूची के मुताबिक, भाजपा ने बैरसिया सीट से पूर्व विधायक विष्णु खत्री को टिकट दिया है, जबकि नरेला विधानसभा सीट से प्रदेश के सहकारिता मंत्री विश्वास सारंग और भोपाल दक्षिण-पश्चिम सीट से मंत्री उमाशंकर गुप्ता को पुन: पार्टी ने अपना उम्मीदवार बनाया है। इसके अलावा भोपाल मध्य से पूर्व विधायक सुरेन्द्र नाथ सिंह और हुजूर सीट से भी पूर्व विधायक रामेश्वर शर्मा को पुन: मौका दिया गया है। इसके अलावा भोपाल उत्तर सीट पर पिछली बार कांग्रेस के आरिफ अकील ने चुनाव जीता था, उस पर भी भाजपा ने अभी उम्मीदवार घोषित नहीं किया है। इस सीट पर भी भाजपा में मंथन जारी है। गोविन्दपुरा सीट से विधायक रहे बाबूलाल गौर ने स्वयं चुनाव लड़ने की इच्छा जताई है। उन्होंने कहा है कि पार्टी अगर उन्हें टिकट नहीं देती है, तो उनकी बहू कृष्णा गौर को इस सीट से टिकट मिलना चाहिए। अगर कृष्णा गौर को पार्टी इस सीट से टिकट देगी, तो वे चुनाव नहीं लड़ेंगे। हिन्दुस्थान समाचार / मुकेश/राधा रमण
image