Hindusthan Samachar
Banner 2 रविवार, नवम्बर 18, 2018 | समय 03:48 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

विदेशी निवेश को लेकर कांग्रेस ने मुख्यमंत्री पर दागा तेरहवां सवाल

By HindusthanSamachar | Publish Date: Nov 2 2018 2:25PM
विदेशी निवेश को लेकर कांग्रेस ने मुख्यमंत्री पर दागा तेरहवां सवाल
भोपाल, 02 नवंबर (हि.स.)। प्रदेश कांग्रेस ने अपनी 40 दिन, 40 सवाल श्रृंखला के अंतर्गत शुक्रवार को प्रदेश की शिवराज सरकार पर 13 वां सवाल दागा है। इस सवाल के जरिए कांग्रेस ने मुख्यमंत्री से पूछा है कि प्रदेश में विदेशी निवेश क्यों नहीं आया। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने ट्विटर के जरिए मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान पर 13 वां सवाल दागा है। उन्होंने लिखा है- मोदी जी की निगाह से देखिए मामा जी की विदेशी यात्राओं का कमाल, निवेश में मध्यप्रदेश ठन ठन गोपाल। मामाजी, क्या विदेश यात्राओं में सिर्फ खर्च किया सरकारी कैश? क्यों नहीं आया कोई विदेशी निवेश? प्रत्यक्ष विदेशी निवेश का शिवराज ब्रांड झूठ। 12 सालों से शिवराज जी देश-विदेश में चमक-धमक के साथ इन्वेस्टर्स मीट कर रहे हैं। कहते हैं कि 40 लाख करोड़ रुपये के अनुबंध भी हुए हैं। सच क्या है? सच 23 जुलाई 2018 को लोकसभा में बताया गया। 1. वर्ष 2103-14 में भारत में कुल 24299.33 मिलियन डॉलर का विदेशी निवेश आया। इसमें से केवल 118.85 मिलियन डॉलर (यानी 0.49%) का निवेश मध्यप्रदेश और छतीसगढ़ में आया। इतने में से पूरा भी मप्र में नहीं आया। 2. वर्ष 2014-15 में भारत में कुल 30930.50 मिलियन डॉलर का विदेशी निवेश आया। इसमें से केवल 100.13 मिलियन डॉलर (यानी 0.32%) मप्र और छतीसगढ़ में आया। 3. वर्ष 2015-16 में भारत में कुल 40000.00 मिलियन डॉलर का विदेशी निवेश भारत में आया। इसमें से केवल 80.02 मिलियन डाॅलर (यानी 0.20%) मध्यप्रदेश और छतीसगढ़ में आया। 4. वर्ष 2016-17 में भारत में 43478.27 मिलियन डॉलर का विदेशी निवेश भारत में आया। इसमें से केवल 76.10 मिलियन डाॅलर ही (यानी 0.17%) मध्यप्रदेश और छतीसगढ़ में आया। 5. वर्ष 2017-18 में भारत में कुल 44856.75 मिलियन डॉलर का विदेशी निवेश आया। इसमें से केवल 28.16 मिलियन डॉलर (यानी 0.06%) मध्यप्रदेश और छतीसगढ़ में आया। शिवराज जी, सरकारी खज़ाने से विदेश यात्रायें करने के बाद भी कोई निवेश करने क्यों नहीं आया? क्योंकि निवेशक शिवराज सरकार के भ्रष्टाचार से भयभीत रहे। शिवराज ब्रांड झूठ| सबसे ज्यादा विदेशी निवेश कर्नाटक, तमिलनाडु, आंध्रप्रदेश में आया, जहां भाजपा की सरकारें नहीं हैं। हिन्दुस्थान समाचार/केशव/राधा रमण
image