Hindusthan Samachar
Banner 2 सोमवार, नवम्बर 19, 2018 | समय 02:05 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

पीठासीन और मतदान अधिकारी हुए प्रशिक्षित, अपर कलेक्‍टर ने बताई बारीकियां

By HindusthanSamachar | Publish Date: Oct 21 2018 6:56PM
पीठासीन और मतदान अधिकारी हुए प्रशिक्षित, अपर कलेक्‍टर ने बताई बारीकियां

विदिशा, 21 अक्‍टूबर (हि.स.) । विदिशा जिले की पांचों विधानसभाओं के लिए नियुक्त पीठासीन अधिकारियों और मतदान अधिकारी क्रमांक-एक के लिए स्थानीय स्थलों पर रविवार को प्रथम चरण का प्रशिक्षण दिया गया। अपर कलेक्टर एवं प्रशिक्षण प्रकोष्ठ के नोडल अधिकारी एच.पी.वर्मा ने अधिकारियों को संबोधित करते हुए कि निर्वाचन आयोग द्वारा पीठासीन अधिकारियों और मतदान दल अधिकारी क्रमांक-एक के लिए जो दिशा-निर्देश एवं दायित्व सौंपे गए हैं, उनसे बखूबी अवगत होकर आयोग की मंशानुसार कार्यो का सम्पादन समय सीमा में करना सुनिश्चित करें। 

अपर कलेक्टर वर्मा ने बताया कि विदिशा एवं शमशाबाद विधानसभा के मतदान दलों को निर्वाचन सामग्री विदिशा जिला मुख्यालय से प्रदाय की जाएगी। शेष अन्य सिरोंज, कुरवाई और बासौदा विधानसभा के लिए मतदान दलों को स्थानीय स्तर पर निर्वाचन सामग्री का वितरण किया जाएगा। आप सभी मतदान प्रक्रिया को सुव्यवस्थित रूप से सम्पन्न कराने के लिए आवश्यक सामग्री से स्वंय भलीभांति अवगत हो और अपने दल के अन्य साथियों को अवगत करायें। ईव्हीएम और व्हीव्हीपैट की कार्यप्रणाली, संचालन पूर्व कनेक्शन करने के तरीकों से स्‍वयं अवगत हो और अपने अन्य सार्थियों को अवगत करायें। 

वर्मा ने मतदान सामग्री प्राप्ति के उपरांत मिलान कैसे करना है की सहज, सरल जानकारी देते हुए कहा कि मतदान केन्द्रों की ओर रवाना होने से पहले जो-जो आवश्यक सामग्री है वह प्राप्त की जा चुकी है का मिलान चेक लिस्ट से अनिवार्यतः करें। निर्वाचन के दौरान किसी भी प्रकार की असुविधा ना हो इसका विशेष ध्यान रखते हुए सामग्री के संबंध में जहां कही भी किसी भी प्रकार की दिक्कत हो तो अविलम्ब उसका निराकरण करायें। 

अपर कलेक्टर वर्मा ने बताया कि पहली बार पिंक बूथ आयोग की मंशानुसार जिले की विधानसभाओं में बनाए जायेंगे। इन सभी मतदान केन्द्रों पर शत-प्रतिशत महिला मतदान अधिकारियों की तैनाती की जाएगी। उन्होंने प्रशिक्षण में शामिल महिला प्रशिक्षणार्थियों से कहा कि वे प्रशिक्षण समाप्ति के उपरांत स्वंय का किस मतदान केन्द्र में नाम है अर्थात वोट डालने जाना है की जानकारीयुक्त प्रपत्र में अंकित अनिवार्यतः करें। ताकि संबंधित मतदान केन्द्र को छोड़कर समीप के मतदान केन्द्र में महिलाओं की ड्यूटी निर्वाचन कार्यो के मद्देनजर लगाई जा सकें। 

वर्मा ने कहा कि मतदान केन्द्र पर सामग्री प्राप्ति के उपरांत मतदान केन्द्र पर पहुंचने पर मतदान केन्द्र को कोई भी मतदानकर्मी छोड़कर ना जाएं। खासकर सायंकाल भोजन करने इधर-उधर चले जाते है, ऐसी पूर्व जानकारियां है। किन्तु इस चुनाव में इस बात का विशेष ध्यान रखें और मतदानकर्मी मतदान केन्द्र को कदापि छोड़कर ना जायें। मतदानकर्मियों के लिए भोजन की व्यवस्था मतदान केन्द्र पर ही क्रियान्वित की जाएगी। 

वर्मा ने मतदान केन्द्र पर मतदान दिवस के पूर्व की जाने वाली व्यवस्थाओं की बिन्दुवार जानकारी दी गई। उन्होंने कहा कि जिले के प्रत्येक मतदान केन्द्र पर 28 नवम्बर को मतदान होना है। इसके लिए संबंधित मतदान केन्द्र पर तैनात किए जाने वाले मतदानकर्मी 28 नवम्बर की प्रातः मतदान समय के एक घंटा पूर्व मॉकपोल करने के उपरांत ही मतदान प्रक्रिया प्रारंभ करायें। उन्होंने मॉकपोल के दौरान किन-किन को उपस्थित होना आवश्यक है से भी अवगत कराया। 

वर्मा ने कहा कि अभ्यर्थी और राजनैतिक दलों के पोलिंग ऐजेन्ट यदि मॉकपोल के दौरान उपस्थित नहीं रहते है तो भी मॉकपोल कर मतदान प्रक्रिया आयोग के द्वारा निर्धारित समय पर शुरू करायें। उन्होंने मॉकपोल की जानकारी जिला निर्वाचन कार्यालय को निर्धारित प्रपत्रों में अवगत कराने की भी समझाईश दी। वर्मा ने प्रशिक्षणार्थियों से कहा कि मतदान केन्द्र पर पीठासीन अधिकारी, मतदान दल अधिकारी क्रमांक-एक, दो, तीन और चार के क्या-क्या दायित्व हो से आयोग द्वारा निर्धारण किया गया है। प्रथम चरण के प्रशिक्षण में शामिल पीठासीन अधिकारी और अन्य को उनके दायित्वों से अवगत कराया जा रहा है। 

प्रशिक्षण में शामिल प्रशिक्षणार्थियो से वर्मा ने संवाद स्थापित कर उनसे कहा कि वे अपने अंदर किसी भी प्रकार की शंका को लेकर न जायें। जो भी विचार, समस्या उनको नजर आ रही है अथवा भविष्य में होने की संभावना है तो उसका समाधान मास्टर ट्रेनर से प्राप्त कर ही प्रशिक्षण संस्थान को छोडे़। प्रशिक्षण में शामिल सभी प्रशिक्षणार्थियों से डाक मत पत्र देने हेतु निर्धारित प्रारूप-12 में रिटर्निंग आफीसर को प्रज्ञापना पत्र प्रदाय किया गया। इस अवसर पर विदिशा एसडीएम सीपी गोहल, तहसीलदार आशुतोष शर्मा के अलावा मास्टर ट्रेनर्स और प्रशिक्षणार्थी मौजूद रहे।

हिन्‍दुस्‍थान समाचार / उमेद 

image