Hindusthan Samachar
Banner 2 सोमवार, नवम्बर 19, 2018 | समय 02:02 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

छतरपुर जिले की यूपी सीमा से लगे क्षेत्रों में जांच अभियान चलाने के निर्देश

By HindusthanSamachar | Publish Date: Oct 21 2018 4:27PM
छतरपुर जिले की यूपी सीमा से लगे क्षेत्रों में जांच अभियान चलाने के निर्देश
छतरपुर, 21 अक्‍टूबर (हि.स.) । छतरपुर जिले के सभी 6 विधानसभा क्षेत्रों में विधानसभा के आम चुनाव के लिए आगामी 2 नवम्बर से शुरू होने वाले नाम निर्देशन पत्रों, नामांकन जमा करने की अंतिम तिथि 9 नवम्बर के बाद नामांकन पत्रों की 12 नवम्बर को संवीक्षा के संबंध में रिटर्निंग ऑफीसर व सहायक रिटर्निंग ऑफीसर द्वारा बरतने वाली सावधानियों के साथ-साथ उन्हें किन-किन बातों का ख्याल रखना होगा के संबंध में राज्य स्तरीय मास्टर ट्रेनर बहादुर सिंह परमार द्वारा कार्यशाला में जानकारी दी गई। 
 
जिला पंचायत के ई-दक्ष केन्द्र में रविवार को हुई इस कार्यशाला में कलेक्टर रमेश भण्डारी, जिला पंचायत सीईओ हर्ष दीक्षित एवं अपर कलेक्टर डी.के. मौर्य ने भी प्रतिभागी के रूप में भाग लिया। मास्टर ट्रेनर परमार ने पावर प्वाइंट प्रेजेन्टेशन के जरिए नाम निर्देशन पत्र भरने की कार्यवाही प्रारंभ होने से लेकर संवीक्षा किए जाने तक की प्रक्रिया में आरओ व एआरओ के कार्यों की बारीकियों के बारे में अवगत कराया।  कलेक्टर भण्डारी ने कार्यशाला के बीच रिटर्निंग व सहायक रिटर्निंग अधिकारियों को संबंधित विधानसभा क्षेत्रों में की जाने वाली तैयारियों की समीक्षा भी की। 
 
कलेक्टर ने निर्देश दिए कि एसडीओपी और लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों से समन्वय कर मतदान केन्द्रों के बाहर प्लान बनाकर बैरीकेटिंग का कार्य पूरा करवायें। उन्होंने कहा कि वे पुलिस अधीक्षक के साथ आगामी दिनों में कभी भी इन व्यवस्थाओं का स्वयं जायजा लेंगे। इस कार्य में किसी तरह की लापरवाही क्षम्य नहीं होगी। इस दौरान भण्डारी ने चंदला विधानसभा क्षेत्र की रिटर्निंग अधिकारी सहित अन्य रिटर्निंग अधिकारियों को सख्त हिदायत दी कि छतरपुर जिले की यूपी सीमा से लगे क्षेत्रों में सघन जांच अभियान निरंतर रूप से चलाया जाना चाहिए। 
 
उन्होंने कहा कि एसएसटी, एफएसटी और व्हीएसटी टीम के साथ-साथ अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व) की भी जिम्मेदारी है कि ऐसे क्षेत्रों में धरपकड़ के मामलों में सतर्कता बरतें और स्वयं भी ऐसे क्षेत्रों में औचक चेकिंग कर अवैध परिवहन पर सख्ती से निपटा जाये। उन्होंने यह भी हिदायत दी कि जिले की सीमा में बिना पिटपास के वाहनों का प्रवेश पर कड़ी नजर रखी जाये।   
 
कलेक्‍टर भण्डारी ने निर्देश दिये कि संबंधित विधानसभा क्षेत्रों के इलाकों में जहां आबकारी विभाग की लायसेंसी दुकान संचालित हैं, इनके अलावा किसी अन्य स्थान पर शराब की बिक्री न हो इसका विशेष रूप से ख्याल रखें और साथ ही नकली शराब विक्रय पर सख्ती बरतें। कलेक्टर ने निर्देश दिए कि सभी रिटर्निंग ऑफीसर के कक्ष में एक-एक टीव्ही सेट लगवाकर केबल नेटवर्क से प्रसारित होने वाले कार्यक्रमों की सतत रूप से मॉनिटरिंग कर उन्हें नियमित रूप से अवगत कराया जाये। 
 
हिन्‍दुस्‍थान समाचार / उमेद 
image