Hindusthan Samachar
Banner 2 रविवार, नवम्बर 18, 2018 | समय 15:12 Hrs(IST) Sonali Sonali Sonali Singh Bisht

फ्लाइंग स्कॉट और एसएसटी टीम को दिया गया "सीविजिल एप" का प्रशिक्षण

By HindusthanSamachar | Publish Date: Oct 13 2018 4:33PM
फ्लाइंग स्कॉट और एसएसटी टीम को दिया गया

झाबुआ, 13 अक्‍टूबर (हि.स.) । विधानसभा निर्वाचन 2018 के लिए शनिवार को कलेक्टर कार्यालय सभाकक्ष में कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी आशीष सक्सेना की अध्यक्षता में रिटर्निंग अधिकारियों, फ्लाईंग स्काट एवं एसएसटी को सीविजल एप पर आने वाली शिकायतों के निराकरण के संबंध में प्रशिक्षण दिया गया। प्रशिक्षण मे बताया कि विधानसभा निर्वाचन 2018 हेतु जिले मे आचार संहिता का उल्लंघन होता नजर आने पर पैसा बंटने, शराब बंटने, हथियार का उपयोग किये जाने, पेड न्यूज संबंधी शिकायतें आमजन अब मोबाइल फोन के जरिये तत्काल निर्वाचन आयोग को कर सकेंगे। इसके लिये निर्वाचन आयोग द्वारा सीविजिल एप बनाया गया है। एप युजर्स के लिये सहज व संचालन मे आसान है। 

कलेक्टर सक्सेना ने बताया कि भारत निर्वाचन आयोग द्वारा इस बार चुनाव संबंधी शिकायतों के त्वरित निराकरण के लिये सीविजल एप लांच किया गया है। इस एप के माध्यम से शिकायत के निराकरण की स्थिति रिटर्निंग अधिकारी द्वारा 100 मिनट के भीतर आयोग की वेबसाइट पर अपलोड की जाएगी। इस दौरान कलेक्टर ने सीविजल एप के बारे में जानकारी दी एवं अधिकारियो को समय सीमा मे कार्यवाही करने के निर्देश दिये। पुलिस अधीक्षक महेश चंद्र जैन ने बताया कि फ्लाईंग स्काट एवं एसएसटी दल वाहन एवं व्यक्तियो की तलाशी लेते समय वीडियोग्राफी जरूर करवाये। एक वीडियोग्राफर अपने साथ हमेशा रखे।

क्या है सीविजल एप

यह एप निर्वाचन आयोग द्वारा 100 मिनट के भीतर आचार संहिता एवं व्यय के लिये शिकायत के निराकरण के लिये बनाया गया है। यह एंड्रायड बेस एप्लीकेशन है। इसके लिये शिकायत करने के लिये शिकायतकर्ता के पास 3 जी, 4 जी मोबाइल होना अनिवार्य है। जीपीएस ऑन होना चाहिये। शिकायत कर्ता स्पॉट से ही फोटो व वीडियो बनाकर शिकायत कर सकेंगे। गेलरी से कोई फोटो या वीडियो अपलोड नहीं किया सकेगा। शिकायत अपलोड होते ही शिकायतकर्ता को एक शिकायत नंबर मिलेगा एवं शिकायत तत्काल संबंधित जिले के कंट्रोल रूम तक पहुंच जायेगी। शिकायत के बारे मे 5 मिनट के अंदर संबंधित विधानसभा क्षेत्र की फ्लाईंग स्काट या एसएसटी टीम को जिला स्तर के कंट्रोल रूम द्वारा सूचित किया जाएगा जो कि मोबाइल एप पर एसएमएस एवं शिकायत के नोटिफिकेशन के रूप मे मिलेगा। 

इसके अलावा संबंधित फ्लाईंग स्काट एवं एसएसटी टीम का सदस्य यदि स्पॉट पर 15 मिनट में पहुंच पाने में सक्षम नहीं होगा, तो वह रिपोर्ट करेगा, यदि वह पहुंच पाने में सक्षम होगा, तो वह 30 मिनट के अंदर शिकायत सही है या गलत इस बारे में संबंधित रिटर्निग अधिकारी को सूचित करेगा। रिटर्निंग अधिकारी 50 मिनट के अंदर शिकायत के निराकरण के संबंध मे कार्यवाही करके शिकायत का स्टेटस वेबसाइट पर अपलोड करेगे। इस तरह शिकायत के संबंध मे 100 मिनट के अंदर सारी कार्यवाही पूर्ण कर ली जायेगी।

प्रशिक्षण में सीईओ जिला पंचायत श्रीमती जमुना भिडे, उप पुलिस अधीक्षक प्रकाश परिहार, रिटर्निंग अधिकारी झाबुआ जगदीश गोमे, रिटर्निंग अधिकारी थांदला अनिल भाना, रिटर्निंग अधिकारी पेटलावद हर्षल पंचोली सहित फ्लाईंग स्काट एवं एसएसटी दल के सदस्य, निर्वाचन के लिये नियुक्त शासकीय सेवक उपस्थित थे।

हिन्‍दुस्‍थान समाचार / उमेद 

image